Ranchi

RMC की लापरवाही आयी सामने, एक साल तक गायब था निगम का टैंकर, अधिकारियों को भनक तक नहीं

विज्ञापन

Ranchi : रांची नगर निगम की एक बड़ी लापरवाही सामने आयी है. जानकारी के मुताबिक करीब एक साल पहले निगम का पानी का एक टैंकर गायब हो गया था. वही टैंकर गुरुवार को चिरौंदी में मिला. सबसे चौंकानेवाली बात यह रही कि खुद अपर नगर आयुक्त गिरिजा शंकर प्रसाद ने निगम के बने व्हाट्सएप ग्रुप में इसकी जानकारी दी. निगम के कर्मचारी या टैंकर का काम देखनेवाले स्टोर प्रभारी तक को जानकारी नहीं थी कि आखिर उनका टैंकर एक साल से कहां गायब है. जैसे ही अपर नगर आयुक्त ने इसकी जानकारी गुरुवार को दी, पानी के टैंकर को लाने के लिए हड़कंप मच गया. इसके बाद टैंकर को लाने के लिए निगम ने ड्राइवर को चिरौंदी भेजा. सूचना के मुताबिक, मामले को लेकर अपर नगर आयुक्त गिरिजा शंकर प्रसाद ने गहरी नाराजगी जतायी है. उन्होंने कहा है कि इस मामले की जांच करायी जायेगी. इसमें जो भी संलिप्त होगा, उस पर कार्रवाई की जायेगी.

कर्मचारियों को झेलना पड़ा स्थानीय लोगों का विरोध

हालांकि, जब निगम के अधिकारी टैंकर लाने चिरौंदी पहुंचे, तो स्थानीय लोगों ने इसका विरोध कर दिया. इसके बाद निगम ने अपनी एन्फोर्समेंट टीम चिरौंदी भेजी. इसके बाद टैंकर को लोगों ने छोड़ा. विरोध कर रहे लोगों का कहना था कि साल 2017 में गर्मी के समय टैंकर चिरौंदी स्थित साइंस सिटी में लाया गया था. उसके बाद से टैंकर साइंस सिटी में पड़ा हुआ था. लेकिन कभी निगम की ओर से कोई टैंकर लेने नहीं आया. आज हम इस टैंकर का उपयोग कर रहे हैं, तो फोर्स भेजकर इसे वापस मंगवाया जा रहा है.

पहले भी सामने आ चुका है निगम की लापरवाही का ऐसा ही मामला

निगम के स्टोर कर्मचारियों का यह कोई नया मामला नहीं है, पहले भी इस तरह की लापरवाही सामने आ चुकी है. पांच साल पहले तो निगम स्टोर से एक ट्रैक्टर को ही वहां के कर्मचारियों ने बेच दिया था. बात ऊपर तक पहुंची, लेकिन मामले को दबा दिया गया. फिर किसी पर कार्रवाई भी नहीं हुई. इसके अलावा जल संकट से निपटने के लिए दो साल पहले वार्डों में कई जगहों पर दो-दो हजार लीटर के पानी टंकी लगायी गयी थी. लेकिन एक साल बाद ही अधिकतर पानी की टंकी गायब हो गयी. पानी की टंकी कहां गयी, इसकी जानकारी किसी के पास नहीं है.

advt

इसे भी पढ़ें- लातेहार : आदिम जनजातियों को नहीं मिल रहा राशन और पेंशन का लाभ, जनसुनवाई में कई मामलों का हुआ खुलासा

इसे भी पढ़ें- नियोजनालयों और आइटीआइ में बाह्य एजेंसियों से सिक्युरिटी गार्ड और सुपरवाइजर होंगे बहाल

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button