JharkhandLead NewsRanchi

कूड़ा उठाव के लिए RMC लेगा आरएफआइडी तकनीक का सहारा, घर से कूड़ा उठा या नहीं चलेगा पता

  • डोर-टू-डोर कूड़ा उठाव के लिए निगम ने दिल्ली के सीडीसी ट्रस्ट के साथ किया करार, जनवरी में होगा काम शुरू

Ranchi : राजधानी में डोर-टू-डोर कचरा उठाव के लिए रांची नगर निगम अब नयी तकनीकि पर काम करने जा रहा है. निगम अब घरों से कचरे के उठाव के लिए रेडिया फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन मशीन (आरएफआइडी) का उपयोग करेगा. इससे शहरवासियों के घर से कचरा उठ रहा है कि नहीं, इसकी जानकारी आसानी से मिल सकेगी. इसके लिए निगम ने दिल्ली की कंपनी सेंटर फॉर डेवलपमेंट ट्रस्ट (सीडीसी ट्रस्ट) से करार किया है.

स्वास्थ्य शाखा की मानें, तो अगले साल जनवरी से सीडीसी ट्रस्ट निगम क्षेत्र में काम करने लगेगी. एक घर का कचरा उठाने के लिए निगम कंपनी को हर माह 25 रुपये का भुगतान करेगी. बता दें कि वर्तमान में सीडीसी ट्रस्ट देश के अन्य प्रमुख शहरों में यह तकनीक से कूड़े का उठाव हो रहा है.

इसमें बड़ौदा, जूनागढ़, चंद्रपुर महाराष्ट्र और जयपुर नगर निगम शामिल हैं. इससे पहले डोर-टू-डोर कूड़े उठाव को लेकर निगम ने एक टेंडर निकाला था. टेंडर में तीन कंपनियां शामिल हुई थीं.

इसे भी पढ़ें : अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति घोटाले में नपे वेलफेयर सुपरवाइजर पी शंकर भगत, डीसी अबु इमरान ने सभी पावर किया जब्त, चलेगी विभागीय कार्रवाई

हर घर में लगायी जायेगी रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन मशीन

डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन को बेहतर बनाने के लिए कंपनी हर घर में रेडिया फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन मशीन इंस्टॉल करेगी. इसके लिए लोगों को किसी तरह का शुल्क नहीं देना होगा. प्रत्येक रेडिया फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन मशीन का यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर होगा. वहीं निगम के सफाईकर्मी के पास आइकार्ड की तरह एक चिप लगा कार्ड होगा.

घर से कचरा लेने के बाद सफाईकर्मी कार्ड जैसे मशीन के पास ले जायेगा, मशीन लाल से हरा सिग्नल देने लगेगी. यह सिग्नल नगर निगम के कंट्रोलरूम तक पहुंच जायेगा. इससे निगम को पता लग जायेगा कि रोजाना कितने घरों से कचरे का उठाव हुआ. हालांकि इससे पहले लोगों को अपने घर में गीले और सूखे कचरे के लिए अलग-अलग कूड़ेदान रखना होगा.

घर से ही सफाईकर्मी गीला और सूखा कचरा का उठाव करेगा. इसके बाद निगम के कचरा वाहन में भी गीला और सूखा कचरा अलग-अलग रखा जायेगा, ताकि घरों से निकलनेवाले कचरे को कचरा ट्रांसफर स्टेशन (एमटीएस) में अलग-अलग न करना पड़े.

एग्रीमेंट होने के बाद निगम कंपनी को 150 के करीब कचरा वाहन सौंप देगा. इसके बाद कंपनी गीला व सूखा कचरा रखने के लिए वाहनों में अलग-अलग खांचा बनायेगी.

इसे भी पढ़ें : 24 जिला में संचालित अस्पतालों को आधुनिक सुविधाओं से युक्त करें अधिकारी : हेमंत

हर माह देना होगा 80 रुपये कचरा यूजर चार्ज

प्रत्येक घर से डोर-टू-डोर कचरा उठाव के लिए रांची नगर निगम हर माह 80 रुपये कचरा यूजर चार्ज लेगा. वर्तमान में निगम 80 रुपये ही कचरा यूजर चार्ज लेता है, निगम ने इसमें कोई बदलाव नहीं किया है.

इसके अलावा होटल, धर्मशाला, बैंक्वेट हॉल, लॉज, हॉस्टल, सरकारी कार्यालय, निजी दफ्तर, रेस्टोरेंट व प्रतिष्ठानों से निगम पुराना कचरा यूजर चार्ज ही लेगा. नगर विकास विभाग ने वर्ष 2016 में नगर निकायों के लिए कचरा यूजर्र चार्ज की दर निर्धारित किया था.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: