JharkhandRanchi

RKDF विवि में ‘पर्यावरण धर्म’ पर वेबिनार का आयोजन, पर्यावरण प्रदूषण को बताया जघन्य अपराध

Ranchi: आरकेडीएफ विश्वविद्यालय की ओर से कुलपति डॉ एके श्रीवास्तव के नेतृत्त्व में ‘पर्यावरण धर्म’ पर वेबिनार का आयोजन किया गया. वेबिनार में मुख्य वक्ता पर्यावरण विद कौशल किशोर जायसवाल उपस्थित थे.

कौशल किशोर बीते 54 वर्षों से पर्यावरण की संरक्षा सुरक्षा पर ‘वनराखी’ और ‘पर्यावरन धर्म’ नामक आंदोलन के माध्यम से सक्रिय हैं. उन्होंने वेबिनार में पर्यावरण और मनुष्य के साहचर्य पर विस्तार से बात की.

अपने अभिभाषण में उन्होंने वर्तमान समय के पर्यावरण की स्थिति पर भी गहरायी से विचार रखा. उन्होंने बताया कि पर्यावरण प्रदूषण एक गंभीर अपराध जैसा है. यह परमाणु बम विस्फोट से भी ज्यादा जघन्य है. परमाणु बम विस्फोट का एक सीमित दायरा होता है लेकिन पर्यावरण प्रदूषण का दायरा तय नहीं किया जा सकता.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें – राहत की खबर : ठाणे से पलामू आय़ा कोविड का 19वां मरीज हुआ ठीक, जिले अब में 9 एक्टिव मामले

The Royal’s
Sanjeevani

पर्यावरण को शुद्ध करने का एक ही उपाय वृक्षारोपण

उन्होंने अपने संबोधन में लोगों से एकजुट होकर पर्यावरण के लिए कुछ करने की जरूरत पर बल दिया.

उनके अनुसार वायु या पर्यावरण को शुद्ध करने के लिए किसी प्रकार का उद्योग-कारख़ाना नहीं लगाया जा सकता है. पर्यावरण की शुद्धता का काम मात्र वृक्षारोपण के माध्यम से पूरा किया जा सकता है.

वेबिनार में विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ अमित कुमार पांडेय ने कौशल जयसवाल के महत्वपूर्ण कार्यों के विषय में बताया और उनकी प्रशंसा करते हुए उनसे प्रेरणा लेने की बात कही.

कुलसचिव ने पर्यावरण के लिहाज से विश्वविद्यालय को और जागरूक बनाने के लिए कौशल जयसवाल को विश्वविद्यालय आने का निमंत्रण दिया जिसे स्वीकारते हुए उन्होंने लॉक डाउन के उपरांत विश्वविद्यालय आकर वृक्षारोपण करने का भरोसा दिया.

इसे भी पढ़ें – महिला जनधन खाते में भेजी जा रही तीसरी किस्त, जानें कब निकाल पाएंगे पैसे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button