JharkhandLead NewsRanchi

सूची में नाम नहीं होने के बाद भी रिम्स अधीक्षक ने लिया कोरोना का टीका

Ranchi: रिम्स में कोरोना वैक्सीनेशन सोमवार को शुरू हो गयी. रिम्स में सोमवार को 100 लोगों को टीका दिया जाना है. शाम 4 बजे तक 60 लोगों को टीका दिया जा चुका था. शुरुआती 5 लोगों में सिक्योरिटी सुपरवाइजर बेचू प्रसाद, निदेशक कामेश्वर प्रसाद, अधीक्षक विवेक कश्यप, माइक्रोबायोलॉजी विभाग के एचओडी मनोज कुमार और सिस्टर इंचार्ज रामरेखा राय को टीका दिया गया.

बता दें कि इनमें से रिम्स के अधीक्षक विवेक कश्यप और एचओडी मनोज कुमार के नाम वैक्सीनेशन लेनेवालों की सूची में नहीं थे. बावजूद इन्हें पहले पांच लोगों में टीका दिया गया. हालांकि एक सीनियर डॉक्टर ने एचओडी मनोज को टीका लेने से मना किया. पर, उन्होंने सिस्टम की लापरवाही का हवाला दिया. नर्सिंग स्टाफ ने जब डॉक्टर से सूची में उनका नंबर पूछा तो उन्होंने कहा कि जिस तरीके से अधीक्षक साहब का नाम लिख कर दिया गया. वैसे ही लिख लें. फिर उन्हें भी टीका लग गया.

वहीं दूसरी तरफ डॉ देवेश का नाम सूची में था पर उन्होंने टीका नहीं लेने की सोची. उन्होंने सभी को टीका दिलाया पर उन्होंने खुद अंतिम समय तक नहीं लिया.

आधे घंटे ऑब्जर्वेशन में रहने के बाद स्वास्थ्यकर्मी काम पर लौटे

इधर, जैसे-जैसे स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना का टीका मिलता गया, आधे घंटे ऑब्जर्वेशन में रहने के बाद सभी अपने काम पर लौटते गये. क्रिटिकल केयर के इंचार्ज डॉ प्रदीप भट्टाचार्य वैक्सीन लेने के बाद ट्रॉमा सेंटर में भर्ती मरीजों को देखने पहुंच गये. वैक्सीनेशन का अनुभव पूछने पर बताया कि टीका पूरी तरह से सुरक्षित है. टीकाकरण के बाद किसी तरह की शारीरिक समस्या महसूस नहीं हुई. उन्होंने दूसरे स्वास्थ्यकर्मियों से भी आग्रह किया कि जब संक्रमित मरीज का इलाज बिना डरे कर लिया तो वैक्सीन लेने में भी किसी तरह की डर नहीं होनी चाहिए.

सिस्टर रामरेखा राय टीका लेने के बाद पहुंचीं संक्रमित मरीजों के बीच ड्यूटी पर

रामरेखा राय ने कहा कि कोविड सेंटर में अब भी तीन दर्जन से अधिक संक्रमित मरीज भर्ती हैं. नर्स रामरेखा ने खुद से जाकर अपने दैनिक कार्य के अनुरूप उन्हें दवाई दी, स्लाइन की बोलत लगायी. रामरेखा ने राज्य और केंद्र सरकार को कोरोना वैक्सीन के लिए धन्यवाद दिया. वैक्सीनेशन हो जाने के बाद उनका हौसला और बढ़ा है. अब दोगुनी ऊर्जा के साथ वे मरीजों की सेवा करेंगी. उन्होंने खुद का उदाहरण देते हुए बाकी लोगों से भी वैक्सीनेशन में हिस्सा लेने का आग्रह किया.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: