JharkhandLead NewsNEWSRanchi

RIMS: रीएजेंट देने को तैयार हुआ प्रबंधन, दो महीने बाद सेंट्रल लैब में टेस्ट चालू

Ranchi: राज्य के सबसे बड़े हॉस्पिटल रिम्स में मरीजों का पैथोलॉजी टेस्ट करने के लिए सेंट्रल लैब को अपग्रेड किया गया है. जहां पर करोड़ों रुपए की मशीन आरोग्य मंदिर ने डोनेशन में दी है. लेकिन इसमें इस्तेमाल किया जाने वाला केमिकल प्रबंधन देने को तैयार नहीं था. अब दो महीने मशीन ठप रहने के बाद प्रबंधन टेस्टिंग के लिए रीएजेंट देने को तैयार हो गया है. जिससे कि इलाज के लिए आने वाले मरीजों का सैंपल टेस्ट शुरू हो जाएगा. वहीं टेस्टिंग के लिए उन्हें प्राइवेट लैब की दौड़ नहीं लगानी होगी.

5 हजार का देना था केमिकल

सेंटल लैब में लगाई गई मशीन के संचालन के लिए प्रबंधन को 5 हजार रुपए का केमिकल उपलब्ध कराना था. दो महीने का समय इस विवाद में बीत गया कि एजेंसी महंगा रीएजेंट मांग रही है. अब दो महीने के बाद प्रबंधन उसी केमिकल को एजेंसी को टेस्टिंग के लिए देने को तैयार हो गया है. लेकिन प्रबंधन और एजेंसी की लड़ाई में परेशानी तो मरीजों को झेलनी पड़ी. वहीं टेस्टिंग के लिए उन्हें बाहर की दौड़ भी लगानी पड़ी.

एक दिन में 10 हजार सैंपल टेस्ट

हॉस्पिटल के सेंटल लैब में लगाई गई मशीन पूरी तरह से आटोमैटिक है. डोनेशन में आई इस मशीन के संचालन का जिम्मा एक एजेंसी को दिया गया है. जहां एक दिन में 10 हजार सैंपल टेस्टिंग की कैपसिटी है. अगर टेस्टिंग को बढ़ा दिये जाए तो रिम्स में आने वाले किसी भी मरीज को टेस्टिंग के लिए कहीं बाहर जाने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी.

Related Articles

Back to top button