HEALTHJharkhandNEWSRanchi

एमपी के रेजिडेंट डॉक्टर्स के सपोर्ट में रिम्स जेडीए ने निकाला कैंडल मार्च

Ranchi: एमपी के डॉक्टर्स के सपोर्ट में ऑल इंडिया के डॉक्टर आगे आ रहे है. अब रिम्स जेडीए भी उनके सपोर्ट में आ गया है. रविवार को जूनियर डॉक्टरों ने कैंडल मार्च निकाला. जेडीए ने कहा की अगर सरकार एमपी के डॉक्टर्स की बात नहीं मानती है तो पूरे इंडिया के डॉक्टर विरोध में और कड़े कदम उठाने को मजबूर होंगे. जेडीए के प्रेसिडेंट डॉ विकास कुमार ने बताया कि यह मार्च एमपी के डॉक्टर्स के सपोर्ट में था. एमपी के रेजिडेंट डॉक्टर्स पिछले 6 महीने से अपनी 6 सूत्री मांग को लेकर बात कर रहे थे. फिर भी एमपी गवर्नमेंट ने उनकी मांगों को पूरा नहीं किया.

इसे भी पढ़ें: नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म का प्रयास, मामला दर्ज

कोविड-19 आने के बाद उन्होंने एक बार स्ट्राइक किया तो गवर्नमेंट ने उन्हें इंश्योरेंस दिया और बदले में एमपी के डॉक्टरों ने स्ट्राइक खत्म कर दी. लेकिन 1 महीने बीत जाने के बाद भी उनकी मांगे पूरी नहीं हुई. तब उन्होंने मजबूर होकर फिर से स्ट्राइक किया. बदले में एमपी गवर्नमेंट ने उल्टा एमपी रेजिडेंट डॉक्टरों के एग्जामिनी बैच के 450 डॉक्टरों का इनरोलमेंट कैंसिल कर दिया. इसी विरोध में पूरे एमपी के मेडिकल कॉलेजों के 3000 स्टूडेंट्स ने रिजाइन दे दिया. एमपी के जेडीए प्रेसिडेंट के घर वालों को पुलिस ने धमकी दी और हड़ताल तोड़ने को लेकर चेतावनी दी है.

इसे भी पढ़ें: व्यापारी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, विधायक ढुल्लू महतो और उनके लोगों से बचाइए

advt

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: