JharkhandRanchi

#RIMS के डॉक्टरों ने की प्रोमोशन प्रक्रिया रोकने की मांग, कहा- विरोध का बदला लेना चाहते हैं निदेशक

Ranchi: रिम्स के चिकित्सकों की पदोन्नति के लिए एसोसिएट प्रोफेसर और एडिशनल प्रोफेसर के पद पर प्रबंधन की ओर से निकाली गयी नियुक्ति को लेकर रिम्स टीचर एसोसिएशन और रिम्स एम्पलॉइज टीचर एसोसिएशन ने बुधवार को विरोध जताया. इससे पहले एसोसिएशन ने रिम्स के अन्य 60 चिकित्सकों के साथ बैठक की. रिम्स टीचर एसोसिएशन के सचिव डॉ प्रभात कुमार और रिम्स एम्लॉइज टीचर एसोसिएशन के सचिव निशित एक्का ने संयुक्त रूप से निदेशक के खिलाफ मोर्चा खोला.

इसे भी पढ़ें – #CoronaUpdate : झारखंड में बुधवार को रिकॉर्ड 38 नये कोरोना पॉजिटिव, 18 गढ़वा, 6 हजारीबाग, 5 कोडरमा, 5 जमशेदपुर, 1 सरायकेला, 1 गुमला और 2 गिरिडीह के

उन्होंने कहा कि पिछले डेढ़ सालों से रिम्स निदेशक के द्वारा किये गये गलत कार्यों का विरोध का बदला लेने समय से पहले बहाली निकाली गयी है. उन्होंने बताया कि एमसीआइ ने 2020 में रिम्स रेगुलेशन में कुछ बदलाव किया था. लेकिन 2022 तक पुराने नियमों को जारी रखने का आदेश दिया था. लेकिन रिम्स निदेशक ने मनमानी करते हुए बहाली मार्च में ही निकाल दिया. जबकि, हर साल प्रमोशन की प्रक्रिया मई में शुरू होती है, जो दिसंबर में समाप्त होती है.

उन्होंने बताया कि नियमानुसार निदेशक हमारी मांगों को मानते हुए इस प्रमोशन की प्रक्रिया को स्थगित करें. अन्यथा, वे उनके खिलाफ कोर्ट में केस करेंगे और शुक्रवार से काला बिल्ला लगायेंगे. उन्होंने बताया कि पिछले डेढ़ साल में एसोसिएशन ने निदेशक के द्वारा बगैर टेंडर के समान खरीद, गलत तरीके से हो रही नियुक्ति,आरक्षण नियमावली को न मानने सहित रेडियोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ सुरेश टोप्पो पर लगाये गये गलत आरोप का उन्होंने खुल कर विरोध किया था. जिसका बदला निदेशक उनके प्रमोशन के दौरान लेना चाह रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – #SuperCyclone: ओड़िशा और प. बंगाल में तबाही मचा रहा तूफान, अब तक 4 की मौत

चिकित्सकों का साक्षात्कार स्वास्थ्य सचिव की अध्यक्षता में बाहर के एक्सपर्ट लेंगेः रिम्स निदेशक

रिम्स निदेशक डॉ डीके सिंह ने बताया कि प्रमोशन प्रक्रिया में एमसीआइ के द्वारा निर्देशित सभी नियमों का पालन किया जा रहा है. एमसीआइ के द्वारा रिम्स रेगुलेशन में लिये गये बदलाव में एमसीआइ ने साफ लिखा है कि, रिम्स संस्थान चाहे तो आगामी दो सालों तक पुराने नियमों को अपना सकता है. लेकिन अभी वैसी कोई भी स्तिथि उत्पन्न नहीं हुई है. पुराने नियमों का पालन किया जाये. उन्होंने बताया कि निकाली गयी वैकेंसी के तहत सभी लोगो के एप्लिकेशन आ चुका है. ऐसे में इसे स्थगित करना नियम के खिलाफ होगा. रही बात साक्षात्कार और चयन प्रक्रिया की ये दोनों स्वास्थ्य सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी की अध्यक्षता में होगी. इनकी अध्यक्षता में बाहर से कुछ एक्सपर्ट आयेंगे, जो साक्षात्कार और चयन करेंगे. इन दोनों प्रक्रिया में मेरी कोई भूमिका नहीं रहेगी.

इसे भी पढ़ें – #Lockdown की उड़ रही धज्जियां, गाइडलाइन का पालन नहीं हुआ तो नगरीय प्रशासन कर सकता है कार्रवाई : मेयर

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close