न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

प्रधानमंत्री के सपने को साकार कर रहा रिम्स, ट्रायल बेसिस पर शुरू हुआ ई-हॉस्पिटल सेवा, कंप्यूटर के माध्यम से देखा जा सकता है मरीज का मेडिकल रिपोर्ट

286

Ranchi: प्रधानमंत्री का सपना डिजिटल भारत बनाने का है. बदलते वक्त के साथ लोग डिजिटल इंडिया की ओर बढ़ रहे है. सभी जगहों पर तकनीक के माध्यम से जनता को बेहतर सुविधाएं देने पर जोर है. इसी कड़ी में रिम्स को ई-हॉस्पिटल सेवा से जोड़ा जा रहा है. एनआईसी के माध्यम से रांची के रिम्स अस्पताल में ई-हॉस्पिटल का प्रोग्राम शुरू किया गया है. इसकी शुरुआत भी हो चुकी है. टेंडर के बाद ट्रायल बेसिस पर 15 कंप्यूटर लगाए गए हैं. शुरुआती दौर में ओपीडी, इमरजेंसी रजिस्ट्रेशन, ब्लड बैंक, कार्डियोलॉजी, डेंटल में नई प्रणाली के तहत रजिस्ट्रेशन काम शुरू हुआ है. 12 जून से इस सेवा की शुरूआत की गई है. बाकी जगहों पर भी जुलाई तक सेवा को शुरू कर लिया जाएगा.

अस्पताल आने वाले मरीजों के साथ चिकित्सकों को भी होगा फायदा
रिम्स चिकित्सा उपाधीक्षक डॉ संजय कुमार ने कहा कि नई व्यवस्था के तहत मरीज और डॉक्टर दोनों को फायदा होगा. इसे मॉनिटर करने में सरकारी तंत्र को भी फायदा होगा. जब तक डाटाबेस नहीं बनता है, उसे एनालिसिस नहीं किया जा सकता है. ई-हॉस्पिटल से मरीजों का डाटा (जांच के कागज) को सुरक्षित रखा जा सकता है. इसमें कागज का कम से कम उपयोग होगा. किसी भी मरीज का लॉगिन आईडी डालकर सभी रिपोर्ट को कोई भी डॉक्टर लॉगिन आईडी और पासवर्ड डालकर किसी भी कंप्यूटर में देख सकते हैं. जरूरत पड़ने पर प्रिंट भी निकाला जा सकता है. लेकिन शर्त ये होगी कि मेडिकल रिपोर्ट को एडिट नहीं कर सकते हैं. यह एक नई तकनीक है जिससे लोगों को सहूलियत होगा.

इसे भी पढ़ें- खूंटी हिंसा पर बोले रघुवर- संवाद करें ग्रामीण, नहीं तो पाताल से भी ढूंढ निकालेगी पुलिस

रिम्स को ई-हॉस्पिटल सेवा से जोड़ा जा रहा है
रिम्स को ई-हॉस्पिटल सेवा से जोड़ा जा रहा है

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: