न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राजस्व कर्मियों ने बनायीी मानव श्रृंखला, किया भिक्षाटन

नहीं मानी सरकार तो चार जनवरी से करेंगे आमरण अनशन 

198

Ranchi: नौ सूत्री मांगों को लेकर आंदोलनरत राजस्व कर्मचारियों ने मंगलवार को धुर्वा गोलचक्कर के समीप मानव श्रृंखला बना कर भिक्षाटन किया. झारखंड राज्य राजस्व उप निरीक्षक संघ संर्घष समिति के बैनर तले आंदोलन कर रहे राजस्व कर्मियों ने शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन किया. अध्यक्ष अमर किशोर सिन्हा ने कहा कि विगत दिनों आंदोलनरत राजस्व कर्मियों को सरकार ने अपने दमनकारी नीति से बंद करने की  कोशिश की. लेकिन सरकार को समझना होगा कि कर्मचारियों में फूट डालने से आंदोलन बंद नहीं होगा. अपनी मांगों के लिये राजस्व कर्मी एकजुट थे और हमेशा रहेंगे. यदि कर्मचारियों की मांगों को पूरा नहीं किया जाता तो जल्द ही कर्मचारी हिंसात्मक आंदोलन करेंगे.

विधानसभा के समक्ष देंगे धरना

अमर ने बताया कि 24 दिसंबर से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र के दौरान राजस्व कर्मी विधानसभा के समक्ष धरना देंगे. उन्होंने कहा कि लंबे समय से राजस्व कर्मी अपने मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं. लेकिन, फिर भी सरकार राजस्व कर्मियों के प्रति उदासीन है. अब विधायकों के सामने अपनी मांगों के लिए आंदोलन किया जायेगा.

आमरण अनशन की है तैयारी

दिसंबर माह के अंत तक सरकार अगर राजस्व कर्मियों की मांग नहीं मानती तो चार जनवरी से राजस्व कर्मी आमरण अनषन करेंगे. अमर ने बताया कि आमरण अनशन के दौरान यदि किसी भी राजस्व कर्मी को कुछ होगा तो इसकी जवाबदेही सरकार की होगी. क्योंकि सरकार ने 2017 में वायदा किया था कि राजस्व कर्मियों को 2400 ग्रेड पे मिलेगा. इसके बावजूद सरकार अपने वायदे से मुकर रही हैं. मौके पर दुर्गेष मुंडा, रविंद्र प्रसाद, कुमार सत्यम भारद्वाज, संजय कुमार साहु,  अशोक  कुुमार सिंह, जयंत विजय टोप्पो, सुकेश  रंजन समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें: थानेदारों पर एसएसपी के आदेश का असर नहीं, पीड़ितों की शिकायत दर्ज करने से कतराती है पुलिस

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: