न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बीएसएफ के हेड कांस्टेबल के साथ की गयी बर्बरता का बदला, पाकिस्तानी सेना के 11 जवान मार गिराये गये

गृह मंत्री राजनाथ सिंह और बीएसएफ के महानिदेशक केके शर्मा ने इस खबर पर मुहर लगा दी

2,748

NewDelhi : भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जम्मू इलाके में बीएसएफ के हेड कांस्टेबल नरेंद्र शर्मा के साथ की गयी बर्बरता का बदला ले लिया गया है. जानकारी दी गयी है कि पाकिस्तानी सेना और रेंजर्स के कम से कम 11 जवान ढेर कर दिये गये हैं. बता दें कि गृह मंत्री राजनाथ सिंह और बीएसएफ के महानिदेशक केके शर्मा ने इस खबर पर मुहर लगा दी है. केके शर्मा ने इस संबंध में कहा कि एलओसी पर बीएसएफ ने सेना की सहायता से भीषण कार्रवाई की. इसमें पाकिस्तानी सेना और रेंजर्स के कम से कम 11 जवान मार गिराये गये.

दो दिन पूर्व हुई इस पहली जवाबी कार्रवाई के बाद पाकिस्तानी सेना के खिलाफ अगली कार्रवाई की पूरी तैयारी कर ली गयी है. शर्मा के अनुसार 19 सितंबर की घटना के बाद बीएसएफ की जवाबी कार्रवाई के डर से पाकिस्तानी सेना ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर अपनी सीमा के पांच किमी का इलाका खाली कर दिया था. जल्द ही पाक सेना और रेंजर्स के खिलाफ कई बड़ी कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ेंः  जब भारतीय सेना के कमांडो ने पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक कर आतंकियों को मौत की नींद सुला दिया

 इमरान  की सरकार बनने के बाद सीमा पर पाक की आक्रामकता बढ़ी

बीएसएफ के महानिदेशक के अनुसार पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार बनने के बाद सीमा पर पाक की आक्रामकता में बढोतरी दर्ज की गयी है. कहा कि अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान ने पहली बार बैट ऑपरेशन कर भारत को चुनौती दी है. बीएसएफ के हेड कांस्टेबल नरेंद्र शर्मा के साथ बैट ऑपरेशन के तहत ही बर्बरता की गयी. अंतरराष्ट्रीय सीमा पर यह घटना पहली बार हुई है. लेकिन पाकिस्तान का बैट ऑपरेशन हमेशा एलओसी पर ही होता रहा है.  बताया कि अंतरराष्ट्रीय सीमा पर दर्जनों पाकिस्तानी आतंकियों के ट्रेनिंग कैंप और लॉन्चिंग पैड काम कर रहे हैं. इनमें से कुछ तो सीमा से सिर्फ पांच से सात किलोमीटर पर हैं. यहां सैकड़ों आतंकियों को ट्रेनिंग दी जा रही है.

palamu_12

इसे भी पढ़ेंः गृहमंत्रालय के निर्देश पर अब अमित शाह को राष्ट्रपति, पीएम मोदी जैसी सुरक्षा मिलेगी

 पीएम ने तीनों सेना प्रमुखों के साथ बैठक की

पीएम नरेंद्र मोदी ने जोधपुर में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल सहित तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में हुई सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर मनाये जा रहे पराक्रम दिवस पर बैठक की. रक्षा राज्यमंत्री सुभाष भांवरे और तीनों सेनाओं के 19 शीर्ष कमांडर भी बैठक में शामिल हुए. हालांकि सरकार ने इसे संयुक्त कमांडर कांफ्रेस बताया, लेकिन  बैठक काफी अहम थी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: