Corona_UpdatesJharkhandRanchi

मजदूरों की वापसी: पूर्व BJP नेता ने की CM हेमंत की सराहना, कहा- भाजपा को श्रेय लेने की राजनीति नहीं करनी चाहिये

Ranchi : प्रवासी श्रमिकों और बाहर फंसे स्टूडेंट्स को वापस झारखंड लाये जाने की पहल करने पर झारखंड आंदोलनकारी और पूर्व भाजपा प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर ने सीएम हेमंत सोरेन की सराहना की है.

प्रवीण के अनुसार यह हेमंत सोरेन के प्रयास का नतीजा ही है कि रेल मंत्रालय ने शुरुआती आठ ‘श्रमिक स्पेशल’ में से चार ट्रेनें झारखंड के लिए चलायी. इस विकट परिस्थिति में भाजपा को इस मामले में श्रेय लेने की राजनीति नहीं करनी चाहिए. सीएम के शानदार प्रयास के लिए सबों को दलगत सीमा से ऊपर उठकर उनका उत्साहवर्धन किया जाना चाहिए.

इसे भी पढ़ें- #Lockdown : 1393 बच्चों को लेकर कोटा से शनिवार की रात रवाना होगी स्पेशल ट्रेन, जांच के बाद भेजा जायेगा घर

Sanjeevani

श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलवाकर हेमंत ने मारी बाजी

प्रभाकर के अनुसार वे हेमंत सोरेन के आलोचक रहे हैं, लेकिन प्रवासियों के मामले में पहल कर उन्होंने देश भर में बाजी मार ली है. लॉकडाउन में केंद्र के निर्देशों का हेमंत ने पूरी तरह पालन किया है. साथ ही उन्होंने बार-बार पीएम और गृहमंत्री से ट्रेनों के परिचालन का अनुरोध किया था जबकि बिहार जैसे राज्य इसके पक्ष में नहीं थे.

उनकी पहल का प्रमाण इस तथ्य से मिल जाता है कि शुरूआती आठ ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों में से चार झारखंड के लिए हैं. तेलंगाना व केरल से मजदूरों को लेकर एक-एक और कोटा से छात्रों को लेकर दो ट्रेनें चलीं. शेष चार में उत्तरप्रदेश, बिहार, ओड़िसा और मध्यप्रदेश के लिए एक-एक ट्रेनें चलीं हैं.

इसे भी पढ़ें- #WelcomeHome : हैदराबाद से लौटे 44 लोगों का धनबाद क्लब में गुलाब के फूलों से किया गया स्वागत

कोरोना संकट को सीएम ने किया है कंट्रोल

प्रभाकर के मुताबिक गृह एवं रेल मंत्रालयों द्वारा जारी दिशानिर्देशों से स्पष्ट हो जाता है कि संबंधित राज्य सरकार के अनुरोध तथा किराए के एकमुश्त भुगतान के आधार पर ही स्पेशल ट्रेनें चलायी जा रही हैं.

राज्य सरकार ही ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों के परिचालन के लिए सारा भुगतान कर रही है. स्लीपर क्लास के निर्धारित भाड़े के अलावा अतिरिक्त तौर पर 100 रुपये प्रति यात्री का भुगतान सरकार कर चुकी है.

हिंदपीढ़ी के कोरोना संक्रमित क्षेत्र में सीआरपीएफ की तैनाती करके सीएम ने दूरदर्शिता का परिचय दिया है. राज्य सरकार की सक्रियता से राज्य में स्थिति अब नियंत्रण में दिखती है.

इसे भी पढ़ें- Dark Web :  इंटरनेट पर एक लाख रुपये लीटर बिक रहा है ठीक हो चुके कोरोना पॉजिटिव का खून – ANU

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button