न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इंदिरा गांधी केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय में शिक्षकों की बहाली, एक भी शिक्षक जनजाती के नहीं होंगे, सभी पद गैर आरक्षित

1,792

Ranchi : इंदिरा गांधी केंद्रीय जनजातिय विश्वविद्यालय में अस्सिटेंट प्रोफेसरों के 52 पदों के लिए विज्ञापन निकाला है. नाम से ही जनजातीय लगने वाले इस संस्थान के बारे में ये अंदाज लगा पाना ही काफी मुश्किल  है कि इतने पदों के लिए निकले विज्ञापन में एक भी पद जनजाती समुदाय के लिए आरक्षित नहीं होगा. सभी के सभी पद गैरआरक्षित हैं. इंदिरा गांधी जनजातीय विवि अमरकंटक अनुपपुर जिला, मध्यप्रदे में स्थित है. जनजाती लोगों के विकास के लिए ही इस विवि को खोला गया था.

इसे भी पढ़ेंः अभिभावकों से धोखाः लाखों रुपये फीस वसूल अयोग्य शिक्षक कराते हैं आईआईटी और मेडिकल की तैयारी
आरक्षण समाप्त नहीं होने देने की मोदी की बात पर उठ रहे सवाल
अमित शाह और नरेंद्र मोदी लगातार मंचों से ये बात लगातार कह रहे हैं कि वे आरक्षण पर कोई आंच नहीं आने देंगे, पर ठीक इसके उलट लगातार इस तरह की उदाहरण सामने आ रह है जो उनके इस बात और भरोसे पर सवाल खड़ा कर रहा है. इंदिरा गांधी केंद्रीय जनजातिय विवि अमरकंटक और मणिपुर के बाद झारखण्ड में भी खोलने की योजना है. 
जेपीएससी और जेएसएससी में भी हुए थे बवाल
जेपीएससी की छठी सिविल सेवा परीक्षा और जेएसएससी दवार आयोजित कियेये दरोगा बहाली में भी आरक्षण के नियमों से अलग रिजल्ट जारी किये गए थे जिसका भारी विरोध भी हुआ था. छात्रों ने जमकर बवाल काटे थे. जेएसएससी दरोगा बहाली का भी भारी विरोध किया गया था पर सरकार पर कोई असर नहीं हुआ आरक्षण को ताख पर रख कर नियुक्ति की गयी. वहीं आरक्षण के अनदेखी के कारण ही जेपीएससी को कई बार पीटी का रिजल्ट जारी करना पड़ा. इसके बावजूद भी अबतक मेंस की परीक्षा नहीं ली गयी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: