Lead NewsNational

चारा घोटाला मामले में चर्चित IPS राकेश अस्थाना को कमिश्नर बनाने के खिलाफ दिल्ली विस में प्रस्ताव पारित

आम आदमी पार्टी ने नियुक्ति को 'सुप्रीम कोर्ट के फैसले का उल्लंघन' बताया

New Delhi : सीनियर IPS राकेश अस्थाना एक बार फिर विवाद में आ गये हैं. राकेश अस्थाना को दिल्ली पुलिस आयुक्त नियुक्त किया गया था. केजरीवाल सरकार ने इसका विरोध किया है. केंद्र के इस फैसले के खिलाफ गुरुवार को दिल्ली विधानसभा ने एक प्रस्ताव पारित किया है.

उनकी नियुक्ति पर सवाल उठाते हुए आप विधायकों ने मानसून सत्र के पहले दिन दिल्ली विधानसभा के नियम-55 के तहत यह मुद्दा उठाया है. सबसे पहले आम आदमी पार्टी (आप) विधायक संजीव झा ने कहा कि राकेश अस्थाना को दिल्ली का नया पुलिस आयुक्त नियुक्त करना ‘सुप्रीम कोर्ट के फैसले का उल्लंघन’ है.

इसे भी पढ़ें :Tokyo Olympics : Mary Kom पदक की दौड़ से बाहर, PV Sindhu पहुंची क्वॉर्टर फाइनल में

advt

सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट का हवाला दिया

बुराड़ी से विधायक संजीव झा ने कहा कि 2019 में सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट में कहा गया था कि यदि डीजीपी के लेवल पर किसी की नियुक्ति होनी है, तो उनके रिटायरमेंट में कम से कम 6 महीने का वक्त होना चाहिए. इस प्रक्रिया में यूपीएससी से सलाह लेने का भी आदेश दिया गया था. इसकी पूरी प्रक्रिया के पालन का आदेश दिया गया था. इस प्रक्रिया के एक भी मानक का पालन राकेश अस्थाना की नियुक्ति के लिए नहीं किए गए हैं.

विधानसभा में इस मुद्दे पर बोलने वाले दो अन्य आप विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी, सोमनाथ भारती और सत्येंद्र जैन भी शामिल थे.

इसे भी पढ़ें :मॉनसून सत्र का चौथा दिन: विपक्ष का हंगामा, स्पीकर भड़के, तेजस्वी ने लाया कार्य स्थगन प्रस्ताव

भाजपा ने किया बचाव

केंद्र के फैसले का बचाव करते हुए विपक्ष के नेता और भाजपा के वरिष्ठ नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि अपने लंबे सेवा कार्यकाल के दौरान अस्थाना द्वारा किए गए कई असाधारण कार्यों को लेकर उन्हें 2009 में एक बार राष्ट्रपति पुरस्कार दिया गया था.

बिधूड़ी ने कहा कि इस सदन को राकेश अस्थाना का दिल्ली पुलिस आयुक्त के रूप में स्वागत करना चाहिए. उनकी सेवा अवधि और कार्यों ने इस देश में एक अच्छा उदाहरण दिया है. वह दिल्ली की बेहतरी के लिए काम करेंगे. जो ईमानदार हैं उन्हें अस्थाना की नियुक्ति से चिंता नहीं होनी चाहिए. क्योंकि वह भ्रष्ट लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हैं.

इसे भी पढ़ें :सदन में दीपक प्रकाश ने उठाया TAC के अवैध गठन का मसला, मंत्रालय ने कहा- संवैधानिक प्रावधानों का पालन जरूरी

बीएसएफ के महानिदेशक पद से हुए हैं रिटायर

बता दें, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के महानिदेशक के रूप में अपनी सेवानिवृत्ति से तीन दिन पहले मंगलवार शाम को अस्थाना को दिल्ली का नया पुलिस आयुक्त नियुक्त करने की घोषणा की है.

कौन हैं राकेश अस्थाना

9 जुलाई, 1961 को जन्मे राकेश अस्थाना गुजरात कैडर के 1984 बैच के IPS अफसर हैं. राकेश अस्थाना ने दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है.

चारा घोटाले मामले में पूछताछ हो या फिर एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के केस से जुड़े ड्रग्स विवाद की जांच की अगुवाई हो, राकेश अस्थाना हमेशा ही सुर्खियों में रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :BIG NEWS : मेडिकल एजुकेशन में मोदी सरकार का बड़ा फैसला, OBC को 27% और EWS को 10% आरक्षण

चारा घोटाला मामले में आये थे सुर्खियों में

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) से जुड़े चारा घोटाला मामले को लेकर राकेश अस्थाना सबसे पहले सुर्खियों में आए थे.

जब ये मामला सामने आया था, तब राकेश अस्थाना की उम्र 35 वर्ष थी और उन्होंने लालू यादव से करीब 6 घंटे तक पूछताछ की थी. उनकी अगुवाई में दाखिल चार्जशीट के बाद ही लालू यादव को इस मामले में गिरफ्तार किया गया था.

इसे भी पढ़ें :Jharkhand : पुलिस मुखबिरी के आरोप और लेवी नहीं देने पर जेजेएमपी उग्रवादियों ने सात ग्रामीणों को पीटा, तीन की हालत गंभीर

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: