JharkhandRanchi

राज्य के पांचों मेडिकल कॉलेज के रेजीडेंट डॉक्टर सोमवार से लगायेंगे काला बिल्ला

एक सप्ताह में मांगे नहीं माने जाने पर करेंगे कार्य बहिष्कार

Ranchi : राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों के रेजीडेंट डॉक्टर एरियर भुगतान की मांग कर रहे हैं. एरियर की मांग पूरी नहीं होने पर वे सोमवार से काला बिल्ला लगा कर प्रदर्शन करेंगे. गुरुवार को जेडीए के सदस्यों ने रिम्स डायरेक्टर को अपनी डिमांड की कॉपी सौंपी है.

उन्होंने दो दिन का समय मांगा है. चिकित्सकों का कहना है कि उन्हें 2019 से सातवें वेतनमान का वेतन दिया गया था. जबकि 2016 से सातवां वेतनमान लागू है. तीन सालों के बकाये एरियर की मांग वे कर रहे हैं. ये सभी जूनियर रेजीडेंट के तौर पर रिम्स में कार्यरत थे.

वे फिलहाल सभी मेडिकल कॉलेजों में पदास्थापित किये गये हैं. एक सप्ताह तक वे काला बिल्ला लगा कर विरोध करेंगे. मांगें नहीं माने जाने पर वे कार्य बहिष्कार करेंगे.

इसे भी पढ़ें : संघर्ष करना होगा, नहीं तो दलित-आदिवासी के विरुद्ध बन रहे कानून जीना मुहाल कर देंगे : हेमंत सोरेन

बन्ना गुप्ता से भी की थी मांग

रिम्स के जूनियर चिकित्सकों ने कोरोना काल में अपना भरपूर योगदान दिया है. बावजूद इनके तीन सालों का एरियर का भुगतान अब तक नहीं किया गया है.

अपनी मांग को लेकर जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के सदस्यों ने स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को मांग पत्र सौंपा था. चिकित्सकों ने कहा कि साल 2016 से ही केंद्र सरकार द्वारा सातवां वेतनमान दिया जा रहा है.

जूनियर डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना के शुरुआत में ही मंत्री के द्वारा ही कोरोना वॉरियर्स को प्रोत्साहन राशि देने की बात कही गयी थी, वो भी अब तक नहीं दी गयी. जेडीए के अजीत कुमार ने बताया कि उन्होंने रिम्स को एम्स से पत्र लाकर दिया था ताकि कुल एरियर का भुगतान हो सके.

इसे भी पढ़ें : अब शहरी जलापूर्ति की पूरी व्यवस्था रांची नगर निगम के जिम्मे, हो सकता है विरोध!

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: