JharkhandLead NewsRanchi

नगर निकायों के प्रतिनिधियों ने केंद्र से की शिकायत- 74वें संशोधन का झारखंड में हो रहा उल्लंघन

Ranchi: बुधवार को मेयर डॉ आशा लकड़ा के नेतृत्व में नगर निकाय, नगर परिषद व नगर पंचायत के प्रतिनिधियों ने नई दिल्ली में केंद्रीय शहरी एवं आवासन मंत्रालय के मंत्री हरदीप सिंह पुरी से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने केंद्रीय मंत्री को बताया कि झारखंड सरकार की ओर से महाधिवक्ता की राय के आधार पर नगर निकाय, नगर परिषद व नगर पंचायत के मेयर व अध्यक्ष के संवैधानिक अधिकारों को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है.

महाधिवक्ता ने नगर विकास विभाग को यह राय दी है कि झारखंड नगरपालिका अधिनियम 2011 के तहत मेयर को निगम परिषद की बैठक आहुत करने, बैठक की तिथि निर्धारित करने व परिषद की बैठक में शामिल किए जाने वाले एजेंडा को निर्धारित करने का कोई अधिकार नहीं है. ये सभी अधिकार नगर आयुक्त को हैं.

इसे भी पढ़ें:हमारे परिवार के पास 100 प्रॉपर्टी है तो यह कोई बड़ा मामला नहीं: हेमंत सोरेन

advt

उन्होंने केंद्रीय मंत्री को यह भी बताया कि महाधिवक्ता ने झारखंड नगरपालिका में विभिन्न धाराओं के तहत प्रदत्त शक्तियों को गलत तरीके से परिभाषित करने का काम किया है. जबकि संविधान के 74वें संशोधन के तहत नगर निकायों, नगर परिषद व नगर पंचायत को सशक्त करने के लिए मेयर/अध्यक्ष को कई शक्तियां प्रदान की गई हैं.

ऐसे में राज्य सरकार मेयर/अध्यक्ष को संवैधानिक अधिकारों से वंचित करेगी तो केंद्र सरकार की कई योजनाएं व शहरी विकास से संबंधित कार्य प्रभावित होंगे.

इसे भी पढ़ें: हेमंत सरकार के पहले टर्म में भी भोजपुरी-मगही पर हो चुका है भाषाई विवाद

झारखंड सरकार आम जनता द्वारा चुने गए जनप्रतिनिधियों के अधिकार का हनन कर नगर निकायों, नगर पंचायतों व नगर परिषदों में उच्च अधिकारियों को गलत तरीके से शक्ति प्रदान कर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का काम कर रही है.

इस दौरान केंद्रीय मंत्री से मिलने गए प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी से शिष्टाचार मुलाकात भी की. प्रतिनिधिमंडल में मेदिनीनगर की मेयर अरुणा शंकर, लातेहार नगर पंचायत की अध्यक्ष सीतामणी तिर्की, गोड्डा नगर परिषद के अध्यक्ष जितेंद्र मंडल, खूंटी नगर पंचायत के अध्यक्ष अर्जुन पाहन, रामगढ़ नगर परिषद के अध्यक्ष योगेश बेदिया व उपाध्यक्ष मनोज कुमार महतो समेत अशोक प्रसाद, अनूप साहू व संदीप आनंद शामिल थे. इसके बाद मेयर डॉ. आशा लकड़ा के साथ प्रतिनिधिमंडल में शामिल सदस्यों ने केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी से भी शिष्टाचार मुलाकात की और उन्हें झारखंड सरकार के क्रियाकलापों की जानकारी दी.

इसे भी पढ़ें:नीति आयोग की टीम के साथ हेमंत की बैठक, मांगे जीएसटी बकाया के 1500 करोड़

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: