न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झिरी में प्रस्तावित प्लांट निर्माण पर एक सप्ताह में रिपोर्ट दे एस्सेल इंफ्रा: नगर विकास सचिव

शहर की बदहाल होती सफाई-व्यवस्था पर जतायी नाराजगी

239

Ranchi: झिरी में प्रस्तावित वेस्ट टू एनर्जी प्लांट निर्माण कार्य नहीं होने पर नगर विकास सचिव अजय कुमार सिंह ने एस्सेल इंफ्रा कंपनी पर नाराजगी जतायी है. सचिव ने कंपनी को अगले एक सप्ताह में रांची नगर निगम आयुक्त को रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है कि वह प्लांट का निर्माण करना चाहती है कि नहीं. वहीं शहर की बदहाल होती सफाई-व्यवस्था पर नाराजगी जताते हुए सचिव ने निगम, एस्सेल इंफ्रा और स्टेट अर्बन डेवलपमेंट एजेंसी को सख्त नसीहत दी है.

इसे भी पढ़ें: नगर निगम के ट्रैक्टर ड्राइवर की पिटाई, चार युवकों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

दशहरा से पहले सफाई व्‍यवस्‍था पटरी पर होनी चाहिए

hosp3

विभागीय सचिव ने कहा है कि आगामी दुर्गापूजा से पहले हर हाल में राजधानी की साफ-सफाई पटरी पर आ जानी चाहिए. सचिव ने यह निर्देश प्रोजेक्ट भवन में आयोजित बैठक के दौरान दी है. इस दौरान नगर आयुक्त मनोज कुमार, स्टेट अर्बन डेवलपमेंट एजेंसी के पदाधिकारी, निगम सहित एस्सेल इंफ्रा के पदाधिकारी मौजूद थे.

राजधानी रांची की लचर साफ-सफाई व्यवस्था पर नाराजगी जताते हुए नगर विकास सचिव अजय कुमार सिंह ने कहा कि हाल के दिनों में जिस तरह से शहर की सफाई व्यवस्था खराब हुई है, उसे दूर करना जरुरी है. विशेषकर आने वाले दिनों में पर्व-त्योहार को देखते हुए यह व्यवस्था जरुरी है. सचिव ने एस्सेल इंफ्रा और निगम के अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि दशहरा से पहले रांची शहर की साफ सफाई पटरी पर होनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें: मोमेंटम झारखंडः 29-30 नवंबर को ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट का होगा आयोजन

प्रस्तावित प्लांट पर रिपोर्ट सौंपे एस्सेल इंफ्रा

झिरी में प्रस्तावित वेस्ट टू एनर्जी प्लांट शुरु नहीं होने पर नाराजगी जताते हुए सचिव ने कहा कि कंपनी ने इसपर अबतक किसी तरह की कोई गंभीरता नहीं दिखायी है. सचिव ने एस्सेल इंफ्रा के अधिकारियों को अगले एक सप्ताह में नगर आयुक्त को रिपोर्ट देकर बताने का निर्देश दिया कि कंपनी प्लाटं बना रही है कि नहीं.

सफाई कर्मचारियों के लिए बने कल्याणकारी योजनाएं

सचिव ने नगर आयुक्त और एस्सेल इंफ्रा के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि साफ-सफाई में लगे कर्मियों के कल्याण के लिए भी कुछ योजनाएं होनी चाहिए. इसके लिए जरूरी है कि व्यवस्था का एक मैनुअल बने और इसके तहत उनके प्रमोशन के लिए भी एक पॉलिसी बनाया जाए. वहीं वार्ड वाइज बनने वाले वेंडर मार्केट में ऐसे कर्मियों के लिए कैंटीन बनाकर हाइजेनिक भोजन उपलब्ध कराने की योजना पर काम करने की बात सचिव ने कही. इसके अलावा विभागीय सचिव ने आरडीएफ (रिफ्यूज डेराइव्ड फ्यूल) प्लांट लगाने पर भी विचार करने का निर्देश अधिकारियों को दिया.

बैठक में लिये गये महत्वपूर्ण निर्णय

  • झिरी में बनने वाले पावर प्लांट को लेकर अगले एक सप्ताह में नगर आयुक्त को रिपोर्ट सौंपे, एस्सेल इंफ्रा
  • कंपनी सुनिश्चित करे कि ब्रेक डाउन हो रही गाड़ियों की संख्या में कमी आये. साथ ही सफाई व्यवस्था को लेकर रिजर्व गाड़ियां भी रखे कंपनी.
  • शहर के सभी होटलों, मैरिज हॉल, सब्जी बाजारों, वेंडर मार्केट में कंपोस्ट मशीन लगाकर कचरा डिस्पोजल करने का काम करें अधिकारी.
  • सड़कों पर लगाया जाए बेहतर क्वालिटी का डस्टबिन.
  • हरमू, मोरहाबादी, खेल गांव स्टेशन के अंदर ही कंपोस्टिंग की व्यवस्था हो, इसे देख लगाया जाए प्लांट
  • साफ-सफाई कार्य में लगे कर्मियों के लिए अच्छी ड्रेस, मास्क और दस्ताना की उपलब्धता सुनिश्चित हो. इसके लिए झारक्राफ्ट से संपर्क कर निर्माण कराया जाये.
  • शहरी क्षेत्रों में साफ-सफाई को लेकर स्टेट अर्बन डेवलपमेंट एजेंसी बनाए मैनुअल
  • मैनुअल में कर्मियों के प्रमोशन की भी पॉलिसी पर किया जाए काम. इसमें सफाई कर्मी, ड्राइवर, सुपरवाइजर, एमटीएस इंचार्ज के क्रम में यह प्रोन्नति आसानी होगी.
  • सफाईकर्मियों को स्किल डेवलपमेंट का प्रशिक्षण दे सर्टिफिकेट दिया जाए. साथ ही अच्छे काम करने वाले सफाईकर्मी को समय-समय पर पुरस्कृत किया जाए.
  • राजधानी के सड़कों की सफाई के लिए रोड स्वीपिंग मशीन खरीदा जाए

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: