न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धर्म को वजह बताकर दंगल गर्ल ने बॉलीवुड को कहा अलविदा

916

Srinagar : राष्ट्रीय पुरस्कार जीतने वाली अभिनेत्री जायरा वसीम ने अभिनय क्षेत्र को छोड़ने की रविवार को यह कहते हुए घोषणा की वह इस काम से खुश नहीं है क्योंकि यह उनके धर्म के रास्ते में आ रहा है.

mi banner add

अपने फेसबुक पेज पर विस्तार से लिखे गए एक पोस्ट में “दंगल” फिल्म से लोकप्रियता पाने वाली जायरा वसीम ने कहा कि उन्हें महसूस हुआ कि भले ही मैं यहां सही तरीके से फिट हो जाऊं लेकिन मैं इस जगह के लिए नहीं बनी हूं.

इसे भी पढ़ें- कंगना की फिल्म ‘मेंटल है क्या’ का नाम बदलकर हुआ ‘जजमेंटल है क्या’

क्या लिखा फेसबुक पोस्ट में

उन्होंने एक लंबे से पोस्ट में कहा कि पांच साल पहले मैंने एक फैसला लिया जिसने मेरी जिंदगी हमेशा के लिए बदल दी. मैंने जैसे ही अपने कदम बॉलीवुड में रखे, इसने मेरे लिए लोकप्रियता के दरवाजे खोल दिए.

मैं लोगों के ध्यान का मुख्य चेहरा बन गई. मुझे सफलता के विचार के तौर पर पेश किया जाने लगा और अक्सर युवाओं के रोल मॉडल के तौर पर मेरी पहचान होने लगी. जायरा ने कहा कि हालांकि मैंने कभी भी ऐसा करना या बनना नहीं चाहा था खासकर सफलता और  विफलता के मेरे विचारों के संबंध में, जिन्हें मैंने समझना और खोजना अभी शुरू ही किया है.

इसे भी पढ़ें- आलिया-रणवीर की ‘गली बॉय’ इंडियन फिल्म फेस्टीवल ऑफ मेलबर्न में होगी प्रदर्शित

मैं कोई और बनने के लिए संघर्ष कर रही थी : जायरा 

उन्होंने कहा कि अब जब उन्होंने इस पेशे में पांच साल पूरे कर लिए हैं इस बात को स्वीकार करती हैं कि काम की वजह से मिले पहचान से वह खुश नहीं हैं. उन्होंने कहा कि बहुत वक्त बाद अब ऐसा लग रहा है कि मैं कोई और बनने के लिए संघर्ष कर रही थी.

मैंने चीजों को समझना शुरू ही किया है जिसके लिए मैंने अपना समय, कोशिश एवं भावनाएं दी हैं और नयी जीवनशैली पर पकड़ बनाने का प्रयास करते हुए मुझे अब महसूस हुआ कि भले ही मैं यहां सही तरीके से फिट हो जाऊं लेकिन मैं इस जगह के लिए नहीं बनी हूं.

उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र निश्चित तौर पर मेरे लिए ढेर सारा प्यार, सहयोग और सरहाना लेकर आया लेकिन साथ ही इसने मुझे अज्ञानता के रास्ते पर धकेल दिया क्योंकि मैं चुपचाप और अनजाने में ‘ईमान’ के रास्ते से भटक गई थी. चूंकि मैं लगातार मेरे ‘ईमान’ के बीच आने वाले माहौल में काम कर रही थी, मेरे धर्म के साथ मेरा रिश्ता खतरे में पड़ गया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: