न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दिल्ली हाईकोर्ट से केंद्रीय मंत्री ईरानी को राहतः मानहानि के मामले में जारी समन रद्द

कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने किया था केस

697

New Delhi: दिल्ली उच्च न्यायालय ने मानहानि के एक मामले में केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को राहत देते हुए, उनके नाम जारी समन बुधवार को रद्द कर दिया. कांग्रेस के नेता संजय निरुपम ने ईरानी के खिलाफ यह मुकदमा दायर किया था. हालांकि, अदालत ने ईरानी की ओर से निरुपम के खिलाफ दायर मानहानि के मामले में कांग्रेस नेता को जारी समन रद्द करने से इंकार कर दिया. हाईकोर्ट ने कहा कि निरुपम के खिलाफ मुकदमा चलेगा.

न्यायमूर्ति आर. के. गौबा ने दोनों नेताओं की याचिकाओं पर दो अलग-अलग फैसले दिए. ईरानी ने अपनी याचिका में निचली अदालत द्वारा उनके खिलाफ छह जून, 2014 में जारी समन रद्द करने का अनुरोध किया था. उन्होंने निरुपम की ओर से दायर शिकायत भी रद्द करने का अनुरोध किया था.

निरुपम ने ईरानी की ओर से दायर मानहानि के मुकदमे में 11 मार्च, 2013 को मजिस्ट्रेट अदालत की ओर से उनके खिलाफ जारी समन रद्द करने का अनुरोध किया था. उन्होंने ईरानी की ओर से एक जनवरी, 2013 को की गई शिकायत रद्द करने का भी अनुरोध किया था.

अदालत ने अपने फैसले या सूची में ईरानी और निरुपम के वास्तविक नाम नहीं दिए हैं. फैसले में ईरान को ‘पीक्यूआर’ कहा गया है वहीं निरुपम को ‘एक्सवाईजेड’ नाम दिया गया है.

दोनों फैसलों के पहले पैराग्राफ में न्यायाधीश ने कहा कि याचिका दायर करने वाले और जवाब देने वाले दोनों की लोग लंबे समय से सार्वजनिक जीवन में हैं, सक्रिय राजनीति में हैं और राजनीतिक दलों से जुड़े हुए हैं.

अक्सर एक-दूसरे के विरोध में रहते हैं. उनके हितों का ध्यान रखते हुए उनके नाम उजागर नहीं किए जा रहे हैं. ज्ञात हो कि अदालत ने इस संबंध में 13 नवंबर को फैसला सुरक्षित रख लिया था.

इसे भी पढ़ेंःचिराग के बाद पशुपति पारस ने तरेरी आंखें, बीजेपी को दिया 31 दिसंबर का अल्टीमेटम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: