न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रिलायंस कम्युनिकेशंस नहीं चुका रही 550 करोड़, टेलिकॉम कंपनी एरिक्सन की SC में गुहार, जेल में रखें अनिल अंबानी को  

राहुल गांधी का ट्वीट, भ्रष्टाचार का एक और मामला, अंतरराष्ट्रीय कर्जखोर अनिल अंबानी को राफेल का कॉन्ट्रैक्ट देकर राष्ट्रीय सुरक्षा को दांव पर लगाने के लिए पीएम के खिलाफ जांच हो

112

 NewDelhi : अनिल अंबानी जब तक उसके 550 करोड़ रुपये नहीं लौटाते हैं, तब तक उनकी विदेश यात्राओं पर रोक लगे और उन्हें जेल में रखा जाये. टेलिकॉम प्रॉडक्ट बनाने वाली कंपनी एरिक्सन ने सुप्रीम कोर्ट में यह दलील दी है. बता दें कि एरिक्सन ने रिलायंस कम्युनिकेशंस के चेयरमैन अनिल अंबानी को उसका बकाया नहीं चुकाये जाने तक जेल में रखने की याचिका सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की है. उधर अनिल अंबानी की कंपनी ने भी इस मामले में देश के संचार विभाग के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा दायर किया है. इसमें उन्होंने स्पेट्रम की नीलामी में हुई देर की वजह से एरिक्सन और दूसरे देनदारों का पैसा नहीं चुका पाने की दलील दी है. अनिल अंबानी की कंपनी द्वारा एरिक्सन को पैसा नहीं चुकाने के मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मुद्दे को लपक लिया है और इसका हवाला देते हुए इसे राफेल डील से जोड़ा है.  

mi banner add

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, भ्रष्टाचार का एक और मामला, अंतरराष्ट्रीय कर्जखोर अनिल अंबानी को राफेल का कॉन्ट्रैक्ट देकर राष्ट्रीय सुरक्षा को दांव पर लगाने के लिए प्रधानमंत्री के खिलाफ जांच की जानी चाहिए. बता दें कि राहुल गांधी राफेल के मुद्दे पर अनिल अंबानी और पीएम मोदी को संसद से लेकर सड़क और ट्वीटर पर घेरे हुए हैं.   

 अनिल अंबानी ने 550 करोड़  जमा करने की गारंटी सुप्रीम कोर्ट में दी है

Related Posts

कश्मीर में अशांति फैलाने के लिये यासीन मलिक ने ISI से लिए पैसे: NIA

टेरर फंडिंग से अर्जित की 15 करोड़ की संपत्ति

इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार एरिक्सन के वकील ने कहा कि रिलायंस कम्युनिकेशंस कंपनी के बकाये का भुगतान नहीं कर रही है. भुगतान का इंतजार काफी लंबा हो चुका है. कहा कि इस मामले में अनिल अंबानी ने 550 करोड़ रुपये जमा करने की गारंटी व्यक्तिगत रूप से सुप्रीम कोर्ट में दी है. वकील का कहना है कि अनिल अंबानी कोर्ट के निर्देशों की अवमानना कर रहे हैं. बता दें कि अगर अनिल अंबानी अवमानना के दोषी पाये जाते हैं तो उन्हें छह माह जेल की सजा हो सकती है.  सुप्रीम कोर्ट में दोनों ही मामलों में सोमवार सात जनवरी को सुनवाई होगी.

बता दें कि यह दूसरी बार है जब अनिल अंबानी की रिलायंस कम्युनिकेशंस ने स्वीडन की कंपनी एरिक्सन को राशि नहीं चुकायी है. इससे पूर्व 30 सितंबर को डेडलाइन समाप़्त होने पर कंपनी ने अंबानी के खिलाफ अक्टूबर में याचिका दाखिल की थी.  उस समय कोर्ट ने अनिल अंबानी की कंपनी को 15 दिसंबर को पैसे का भुगतान करने को कहा था. लेकिन फिर कंपनी पैसा नहीं दे पायी. एरिक्सन ने सूद समेत पूरा पैसा वापस लौटाने की मांग की थी. 

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: