JharkhandRanchi

रोड एक्सीडेंट में मृत ग्राम रोजगार सेवक के परिजनों को मिले नौकरी-मुआवजा

मनरेगा कर्मचारी संघ ने ग्रामीण विकास सचिव को सौंपा ज्ञापन

Ranchi : झारखंड राज्य मनरेगा कर्मचारी संघ ने सड़क दुर्घटना में मृत ग्राम रोजगार सेवक नरेंद्र तिवारी के परिजनों को उचित सरकारी सहायता दिलाने की मांग ग्रामीण विकास सचिव झारखंड से की है. इस संबंध में प्रदेश उपाध्यक्ष महेश सोरेन ने ज्ञापन दिया है और कहा है कि 28 जून 2022 को अपनी ड्यूटी से वापसी के दौरान गिरिडीह के प्रखंड धनवार के ग्राम रोजगार सेवक नरेंद्र तिवारी की रोड एक्सीडेंट में मृत्यु हो गयी. स्व. तिवारी अपने परिवार के एकमात्र कमाऊ व्यक्ति थे.

इनके पीछे चार छोटे बच्चे और परिवार के अन्य लोग हैं जिनके भरण-पोषण की अब समस्या आ गयी है. ऐसे में राज्य सरकार को उनके परिवार को सामाजिक सुरक्षा, अनुकंपा की नौकरी और तत्काल 25 लाख रुपये का मुआवजा उपलब्ध कराना चाहिए.

इसे भी पढ़ें:Udaipur Killing : राजस्थान के उदयपुर में मारे गये कन्हैया लाल के परिजनों से रघुवर दास ने की बात, एक करोड़ मुआवजा देने की मांग

Catalyst IAS
ram janam hospital

Related Articles

Back to top button