JharkhandLead NewsRanchi

फेक डॉक्यूमेंट देकर करा रहे थे रजिस्ट्रेशन, 8 फार्मासिस्ट का एप्लीकेशन रिजेक्ट

Ranchi: झारखंड स्टेट फार्मेसी काउंसिल में रजिस्ट्रेशन के लिए आए आनलाइन 8 आवेदनों को रिजेक्ट कर दिया है. जिसमें 7 लोगों ने फेक डॉक्यूमेंट जमा कराया था. जबकि एक आवेदक मैथ में फेल था. इसका खुलासा डॉक्यूमेंट वेरीफिकेशन के दौरान हुआ. इसके बाद काउंसिल ने रिजेक्ट किए गए आवेदकों की लिस्ट वेबसाइट पर अपलोड कर दी है. वहीं जल्द ही आगे की कार्रवाई की जाएगी. बताते चलें कि झारखंड स्टेट फार्मेसी काउंसिल सख्त हो गया है. वही किसी भी हाल में अब झारखंड में बिना रजिस्ट्रेशन के फार्मासिस्ट प्रैक्टिस नहीं कर सकेंगे.

101 आवेदन काउंसिल में पेंडिंग

ram janam hospital
Catalyst IAS

फार्मेंसी काउंसिल में रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य कर दिया गया है. इसके लिए पासिंग सर्टिफिकेट के साथ एजुकेशनल क्वालिफिकेशन सर्टिफिकेट भी मांगे जा रहे है. इसके बाद ही काउंसिल में रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन किया जा सकता है. फिलहाल काउंसिल में 101 आवेदन पेंडिंग है. जिसमें ज्यादातर आवेदकों का वेरीफिकेशन नहीं किया गया है. वहीं कई ऐसे आवेदक है जिन्होंने काउंसिल को सभी डॉक्यूमेंट जमा नहीं कराए है. जिन्हें जल्द से जल्द डॉक्यूमेंट जमा कराने का निर्देश दिया गया है. ऐसा नहीं करने की स्थिति में उनका आवेदन रिजेक्ट कर दिया जाएगा.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

55 स्कूल और कॉलेज है फार्मेसी के

राज्य में अबतक 55 स्कूल और फार्मेसी कॉलेज चल रहे है. जिन्हें झारखंड स्टेट फार्मेसी काउंसिल से मान्यता प्राप्त है. इन कॉलेजों में हर साल हजारों स्टूडेंट्स एडमिशन लेते है. वहां से पढ़ाई पूरी करने के बाद कहीं भी प्रैक्टिस के लिए उन्हें काउंसिल में रजिस्ट्रेशन कराने के बाद लाइसेंस भी लेना जरूरी है.

इसे भी पढ़ें:  गुमशुदा : पटना के AIIMS में इलाज करने गए थे वृद्ध व्यक्ति, अस्पताल परिसर से हो गए गुम

 

Related Articles

Back to top button