न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#JharkhandPolice में पुलिस अवर निरीक्षक के पद पर सीमित प्रतियोगिता परीक्षा निरस्त करने की अनुशंसा

1,901

Ranchi: झारखंड पुलिस में पुलिस अवर निरीक्षक के पद पर प्रोन्नति के माध्यम से भरे जाने वाले 50% पदों में से 25% पदों पर सीमित प्रतियोगिता परीक्षा के माध्यम से होने वाली नियुक्ति को निरस्त करने की अनुशंसा पुलिस मुख्यालय महानिदेशक पीआरके नायडू ने गृह कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग से की है.

पिछले वर्ष झारखंड पुलिस मेंस एसोसिएशन और झारखंड पुलिस एसोसिएशन द्वारा झारखंड पुलिस में पुलिस अवर निरीक्षक के पद पर सीमित प्रतियोगिता परीक्षा समाप्त करने समेत कई अन्य मांगों को लेकर आंदोलन किया गया था.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसके बाद पुलिस एसोसिएशन के साथ मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक बैठक की गयी थी जिसमें निर्णय लिया गया था कि पुलिस मुख्यालय द्वारा सीमित प्रतियोगिता परीक्षा भविष्य में होना है अथवा नहीं, इस बिंदु पर एसोसिएशन से विचार-विमर्श कर सर्वसम्मति से निर्णय लिया जायेगा.

इस संबंध में सभी एसोसिएशनों से पुनः प्रक्रिया के संदर्भ में मंतव्य मांगा गया जिसमें अधिकांश एसोसिएशनों ने सीमित प्रतियोगिता परीक्षा को समाप्त करने हेतु सहमति दे दी.

इसे भी पढ़ें : #IAS विनय चौबे बने नगर विकास सचिव, सुनील बर्णवाल को राजस्व पर्षद का अपर सदस्य बनाया गया

1544 में 1149 पद रह गये थे रिक्त

वर्ष 2017 में सीमित प्रतियोगिता परीक्षा के माध्यम से 25% पदों को भरे जाने के लिए कुल 1544 पदों का विज्ञापन निकाला गया था. इसमें पुलिस विभाग के आरक्षी, हवलदार और एएसआइ शामिल हुए थे.

इनमें से मात्र 397 लोग ही चयनित हुए थे. वर्तमान में 393 कार्यरत हैं. इस तरह से सीमित प्रतियोगिता में रिक्ति के अनुरूप योग्य अभ्यर्थी पूरी तरह से चयनित नहीं हो सके तथा 1149 पद रिक्त रह गये जो अब तक रिक्त बने हुए हैं.

Related Posts

#Giridih: गाड़ी खराब होने के बहाने घर में घुसे अपराधियों ने लूटे ढाई लाख कैश व 50 हजार के गहने

धनवार के कोडाडीह गांव की घटना, तीन दिन पहले ही गृहस्वामी ने बेची थी जेसीबी

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

इसे भी पढ़ें : #Ranchi में आठ लेन के सिंथेटिक ट्रैक के लिए खर्च हुआ 7.27 करोड़, चंदनकियारी में छह लेन के लिए 11 करोड़!

हाइकोर्ट ने दी थी सीमित प्रतियोगिता परीक्षा को समाप्त करने की सहमति

सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रकाश सिंह के वाद पर आदेश पारित किया गया है कि पुलिस सुधार के तहत पुलिस अनुसंधान और अपराध के लिए अलग से कार्यप्रणाली शुरू की जाये, ताकि लंबित कांडों का अनुसंधान व निपटारा जल्दी हो और अपराध पर नियंत्रण हो सके.

इसी आदेश के अन्य वाद में झारखंड हाइकोर्ट द्वारा भी सहमति देते हुए उक्त प्रक्रिया को लागू करने का निर्देश दिया गया है. इसके लिए झारखंड पुलिस में पदाधिकारी की आवश्यकता बढ़ेगी.

इस प्रक्रिया को लागू करने के लिए पुलिस अवर निरीक्षक स्तर के पदाधिकारियों के पदों को प्रोन्नति के माध्यम से यथाशीघ्र पूरी तरह से भर दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : पुलवामा के शहीद विजय सोरेंग को रघुवर ने ठगा, CCL-BCCL फैमली मैटर की वजह से नहीं कर पा रही मदद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like