न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पढ़ें… बीजेपी के पक्ष में फैसला सुनाते वक्त क्या कहा स्पीकर दिनेश उरांव ने, देखें वीडियो में सबकी प्रतिक्रिया

eidbanner
1,588

Ranchi : विधानसभा परिसर की खुली इजलास का कोर्ट खचाखच भरा हुआ था. भीड़ का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि प्रतिवादी के अधिवक्ता को भी जगह नहीं मिली थी. कई पत्रकार कुर्सी पर बैठे दूसरे पत्रकारों की गोद में बैठे थे. और कई खड़े भी थे. सुरक्षा में तैनात सिपाही जी को समझ में नहीं आ रहा था कि किसे बाहर निकालें और किसे कोर्ट के कमरे में रहने दें. ठीक 3.33 बजे खुली इजलास के जज और विधानसभा स्पीकर कोर्ट कैंपस में दाखिल हुए. उन्होंने बिना देर किये फैसला सुनाना शुरू किया.

फैसला सुनाने के दौरान उन्होंने कहा, “दोनों पक्षों को अपना पक्ष रखने हेतु पूर्ण समय दिया, ताकि किसी पक्ष का तथ्य न्यायाधिकरण के समक्ष रखने में कमी न रह जाये. सारी सुनवाई खुली इजलास में हुई. मैंने सुनवाई के उपरांत 12/12/2018 को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. आज मैं अपना निर्णय सुना रहा हूं और इसकी कॉपी वादी और प्रतिवादी को जल्द से जल्द उपलब्ध करा दूंगा. सभी तथ्यों और संवैधानिक प्रावधानों पर अच्छे से विचार के बाद प्रथम दृष्टया विलय की शर्तों को पूरा करने के कारण इस मामले में विलय की सहमति प्रदान की गयी थी. उस विलय को वैध मानते हुए विलय की सहमति प्रदान करता हूं. वादी श्री बाबूलाल मरांडी (केंद्रीय अध्यक्ष, झारखंड विकास मोर्चा) और विधायक प्रदीप यादव के आवेदन को, जिसके द्वारा उन्होंने जेवीएम (प्रजातांत्रिक) के चुनाव चिह्न से निर्वाचित छह सदस्यों नवीन जायसवाल, गणेश गंझू, अमर बाउरी, आलोक चौरसिया, रणधीर कुमार सिंह और जानकी प्रसाद यादव को पार्टी विरोधी गतिविधि एवं आचरण के आधार पर दसवीं अनुसूची के प्रावधानों के तहत झारखंड विधानसभा की सदस्यता को रद्द करने का अनुरोध किया गया था, सम्यक विचारों के उपरांत अमान्य करता हूं. इन याचिकाओं को निष्पादित घोषित करता हूं. आज दिनांक 20 फरवरी 2019.  धन्यवाद.”

सुनिये क्या कहा बीजेपी के अधिवक्ता विनोद कुमार साहू ने

सुनिये क्या कहा जेवीएम के अधिवक्ता आरएन सहाय ने

और विक्टरी चिह्न बनाते हुए जेवीएम से बीजेपी में आये जानकी प्रसाद यादव

पढ़ें... बीजेपी के पक्ष में फैसला सुनाते वक्त क्या कहा स्पीकर दिनेश उरांव ने, देखें वीडियो में सबकी प्रतिक्रिया

फैसले के बाद सुनिये जेवीएम केंद्रीय महासचिव खालिद खलील को

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: