न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#RBI गवर्नर का बड़ा बयानः सिर्फ ग्लोबल वजहों से नहीं अर्थव्यवस्था की धीमी रफ्तार, सुधार के दिख रहे संकेत

952

New Delhi: केंद्रीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने देश की आर्थिक सुस्ती को लेकर बया बयान दिया है. गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि भारत में आई सुस्ती के लिए केवल वैश्विक कारणों को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है. साथ ही कहा कि अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत मिलने लगे हैं.

उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक आर्थिक नरमी, मुद्रास्फीति में वृद्धि, बैंकों और एनबीएफसी की वित्तीय हालत को ठीक करने के लिए जरूरी कदम उठाएगा. अर्थव्यवस्था पर सूचनाओं और आंकड़ों के आधार पर चर्चा करने की जरुरत है.

इसे भी पढ़ेंः#JharkhandElection: 4th फेज का मतदान जारी, 15 विधानसभा सीटों पर 11 बजे तक 28.56% वोटिंग

शक्तिकांत दास ने उम्मीद जताई कि व्यापार को लेकर अमेरिका-चीन के बीच समझ बनी रहेगी तथा आगे और मजबूती होगी. आरबीआइ गवर्नर ने कहा कि भारत में आर्थिक नरमी के लिए वैश्विक कारकों को पूरी तरह से जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है. साथ ही कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों की ओर से बुनियादी ढांचे पर खर्च आर्थिक वृद्धि के लिए अहम है.

Related Posts

सुप्रीम कोर्ट ने CAA के बाद #NPR पर रोक लगाने से इनकार किया,  केंद्र को नोटिस जारी कर जवाब मांगा

कोर्ट ने CAA और NPR पर रोक लगाने से इनकार करते हुए केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है.  

शक्तिदास ने वैश्विक आर्थिक सुस्ती को दूर करने के लिए सभी विकसित और उभरती अर्थव्यस्थाओं द्वारा समन्वित और समयबद्ध तरीके से कदम उठाने की आवश्यकता पर बल दिया. साथ ही बताया कि आरबीआइ ने आर्थिक वृद्धि में नरमी को महसूस किया था और फरवरी से नीतिगत ब्याज दरों में कटौती करके समय से पहले कदम उठाएं.

Mayfair 2-1-2020

आरबीआइ गवर्नर ने ये भी कहा कि भारत को विनिर्माण पर ध्यान देना चाहिए और वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला का हिस्सा बनना चाहिए. रिजर्व बैंक द्वारा 1,539 कंपनियों के सर्वे का हवाला देते हुए उन्होंने कहा है कि इन्वेस्टमेंट साइकल रिवाइवल के संकेत दिखा रहा है.

इसे भी पढ़ेंः#CAA: पुलिस के साथ झड़प में AMU में 60 छात्र जख्मी, 5 जनवरी तक यूनिवर्सिटी बंद

Sport House
SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like