Business

#RBI ने मुद्रा योजना के तहत बढ़ते फंसे कर्ज पर चिंता जतायी

Mumbai: भारतीय रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर एमके जैन ने मंगलवार को छोटे कारोबारियों को कर्ज उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गयी मुद्रा ऋण योजना में कर्ज वसूली की बढ़ती समस्या को लेकर चिंता जतायी.

उन्होंने बैंकों से कहा कि वह इस योजना के तहत दिये जानेवाले कर्ज पर करीबी नजर रखें. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2015 में मुद्रा कर्ज योजना की शुरुआत की थी. यह योजना सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों को जरूरी वित्तपोषण सुविधा उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गयी है.

इसे भी पढ़ें – #Maharashtra: क्या मोदी-शाह व राज्यपाल ने लोकतंत्र व संविधान का चीरहरण किया!

मुद्रा योजना पर हमारी नजर है

जैन ने यहां भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) के सूक्ष्म वित्त पर आयाजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘मुद्रा योजना पर हमारी नजर है, इस योजना ने जहां एक तरफ देश के कई लाभार्थियों को गरीबी रेखा से ऊपर उठाने में बड़ी मदद की है वहीं इसमें कई कर्जदारों के बीच गैर- निष्पादित राशि के बढ़ते स्तर को लेकर कुछ चिंता भी है.’’

उन्होंने बैंकों को सुझाव दिया है कि वह इस तरह के कर्ज देते समय दस्तावेज की जांच-परख के स्तर पर कर्ज किस्त के भुगतान की क्षमता पर भी गौर करें और इस तरह के कर्ज का उनकी पूरी अवधि तक करीब से निगरानी करें.

इसे भी पढ़ें – #JNU प्रशासन समिति ने सभी छात्रों के लिए आवश्यक सेवा शुल्क में कटौती की सिफारिश की

Related Articles

Back to top button