न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

साजिश करके रवींद्र पांडे ने फंसाया, दोषी निकला तो चढ़ जाऊंगा फांसी – ढुल्लू महतो  

326

Dhanbad: कतरास की रहनेवाली धनबाद जिला भाजपा की मंत्री कमला देवी के आरोपों का बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो ने शुक्रवार को धनबाद सर्किट हाउस में प्रेस कान्फ्रेंस करके जवाब दिया. पीसी में ढुल्लू ने साफतौर पर खुद पर लगे आरोप को एक बड़ी साजिश बताया और इसके पीछे पूरी तरह से अपनी ही पार्टी के गिरिडीह सासंद रवींद्र पांडे का हाथ बताया.

विधायक प्रेस के सामने ढुल्लू महतो ने दिया ये बयान

प्रेस कॉफ्रेंस में ढुल्लू महतो ने कहा कि सरकार के विकास का हर काम क्षेत्र में जनता के बीच पहुंचाते हैं. लेकिन रवींद्र पांडे और मेरे बीच विवाद चल रहा है, जिसे हम विवाद नहीं मानते थे. लेकिन इस तरह से साजिश करके अपना चरित्र और नेचर को गिरा करके नाम कमायें, ये इस लोकतंत्र में नहीं हो सकता है, लोकतंत्र में हम मालिक या डिसीजनकर्ता नहीं बन सकते हैं कि हम ये काम करेंगे तो उसके चरित्र को गिरायेंगे और उसके चरित्र को बढ़ायेंगे. हम अपने चरित्र को समाज के बीच में समाज के बीच में काम करके ही बढ़ा सकते हैं.

आपने इस्तीफा देने की बात बोली थी, इस सवाल के जवाब में ढुल्लू ने कहा कि हां यदि सांसद बोल रहा है कि इस्तीफा देंगे तो दे दे, फिर हम भी दे देंगे इस्तीफा और जांच भी करवा ले. साथ ही कहा कि यदि एक पर्सेंट भी हम दोषी होंगे तो सीधे फांसी पर चढ़ने के लिये तैयार हैं. ये दस बार कह चुके हैं.

वहीं जांच से पहले सांसद के इस्तीफे का इंतजार क्यों के सवाल पर ढुल्लू ने कहा कि – क्यों नहीं क्योंकि उसमें दोषी वह भी हैं और ये भी हो सकता है कि हम इस्तीफा दे दें और वो ना दें तो वो दबाव बनवाकर हम पर आरोप लगा सकते हैं.

वहीं पुलिस और सत्ता आपकी, इस सवाल पर कहा कि –  क्यों ये तो रवींद्र पांडे जी का भी है. सत्ता मेरा है तो उसका भी है और वो तो 25 साल से हैं और ज्यादा दबाव बना सकते हैं. साथ ही कहा कि सत्ता नहीं बल्कि समाज के ज्यादा करीब हम हैं. ढुल्लू ने कहा कि जो हमारे खिलाफ साजिश करते हैं , उसे कैसे छोड़ देंगे.

वहीं ढुल्लू पर लगे रंगदारी के कई आरोप पर वह भड़क गये और सीधे कह डाला कि – अरे यार माफिया लोग जो रंगदारी करते हैं, वे आरोप लगाते हैं.

वहीं सब तो ढुल्लू महतो को ही सबसे बड़े माफिया कहते हैं – इस सवाल के जवाब पर ढुल्लू ने कहा कि कहने दीजिये, उससे क्या होता है. और माफिया लोगों से जिसके संबंध होंगे वे जो बताते हैं, उसी को आपलोग कहते हैं.

ढुल्लू ने साफतौर पर कहा कि मुझे फंसा दिया गया है, क्योंकि कमला देवी किसी दूसरे मामले को लेकर आत्मदाह करने गयी थी और वहां पहुंचते ही मुझ पर आरोप लगाने लगी. साथ ही कहा कि कमला देवी का ये कोई पहला मामला नहीं है, कई मामले हैं उसपर जिसकी जांच किया जाना चाहिये.

ढुल्‍लू महतो के कारनामे को बाघमारा की जनता जानती है : रणविजय सिंह

सीबीआइ जांच करवा दी जाए तो कमला जैसी कई पीड़िता सामने आ जायेंगी. बाघमारा विधायक के कारनामे को जन-जन जान चुका है. उक्त बातें कांग्रेस पार्टी के प्रदेश सचिव रणविजय सिंह जी ने प्रेस रिलीज जारी कर कहा. उन्होंने कमला कुमारी के विधायक पर लगाये आरोप पर कहा कि भाजपा विधायक का यही चाल, चरित्र और चेहरा है. भाजपा की नेत्री होकर भाजपा के ही विधायक पर आरोप लगा रही हैं. जबकि उनकी ही पार्टी का मामला भी है, फिर षड्यंत्र विरोधी लोग कर रहे हैं, यह कहना हास्यास्पद है. विधायक अपने कई कार्यकर्ताओं के परिवार का मानसिक, आर्थिक और शारीरिक शोषण कर रहा है, यह जगजाहिर है. सिर्फ विधायक ही नहीं उनके अन्य भाई बंधु भी कई महिलाओं का शोषण कर रहे हैं. लेकिन डर से कोई कुछ नहीं बोलता, यह उसके पार्टी के कार्यकर्ता भी जानते हैं. रणविजय सिंह ने कहा कि अगर रघुवर सरकार में दम है तो सीबीआइ जांच कराए.

‘बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ’ का नारा देने वाले ऐसे ही लोग से आज बेटियों को सबसे ज्यादा खतरा है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे फोटो और वीडियो से विधायक के चरित्र को जनता समझ चुकी हैं. साथ ही कहा कि विरोधियों को रेप के केस फंसाने वाले विधायक का सच जब उनकी पार्टी के महिला ने समाज को दिखाया तो ये विधायक उस महिला के चरित्र हनन में लग गया.

सत्ता के नशे में चूर हैं भाजपाई : संगीता तिवारी

भाजपा के राज में आए दिन महिलाओं पर अत्याचार, यौन शोषण की घटनाएं हो रही है. ऐसी घटनाओं में ज्यादातर भाजपा के लोगों का ही नाम सामने आ रहा है. भाजपा अपने लोगों को बचाने में लगी है. इसकी जितनी भी निंदा की जाय कम है, सत्ता के नशे में सभी चूर हैं. उक्त बातें झारखंड महिला कांग्रेस की प्रदेश महासचिव संगीता तिवारी ने कही.

इसे भी पढ़ें: 18 सौ करोड़ खर्च करने के बाद भी शुरू नहीं हो पायी 247 ग्रामीण जलापूर्ति योजना

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: