Lead NewsNationalNEWSTOP SLIDER

राशनकार्ड धारकों को तिरंगा खरीदने पर किया जा रहा मजबूर, वरुण गांधी के ट्विट से मचा बवाल

Uday Chandra

New Delhi : आजादी के 75 साल पूरे होने पर मोदी सरकार देश भर में हर घर तिरंगा अभियान को लेकर जोर शोर से प्रचार कर रही है. इस अभियान के तहत देश भर के नागरिकों से अपील की जा रही है कि वे 13 से 15 अगस्त तक अपने अपने घरों पर तिरंगा लहरा कर आजादी का अमृतमहोत्सव मनाएं. लेकिन भाजपा के सांसद वरुण गांधी ने अपने एक ट्विट से सरकार की इस योजना को विवादों में डाल दिया है. वरुण गांधी ने ट्विट कर कहा है कि गरीब राशन कार्ड धारकों को जबरन तिरंगा खरीदने पर मजबूर किया जा रहा है.

Sanjeevani

वरुण गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा है, “आजादी की 75वीं वर्षगाँठ का उत्सव गरीबों पर ही बोझ बन जाए तो दुर्भाग्यपूर्ण होगा. राशन कार्ड धारकों को या तिरंगा खरीदने पर मजबूर किया जा रहा है या उसके बदले उनके हिस्से का राशन काटा जा रहा है. हर भारतीय के हृदय में बसने वाले तिरंगे की कीमत गरीब का निवाला छीन कर वसूलना शर्मनाक है.

 

दरअसल हर घर तिरंगा अभियान के तहत मोदी सरकार ने 20 करोड़ घरों पर तिरंगा फहराने की योजना बनायी है. इस अभियान का बीजेपी शासित राज्य तेजी से प्रचार प्रसार कर रहे हैं. वरुण गांधी ने अपने ट्विट का आधार हरियाणा में वायरल हो रहे एक मैसेज को बनाया है, जिसमें कहा गया है कि डिपो धारकों द्वारा राशन डिपो पर बिना झंडे खरीदे राशन नहीं मिलेगा. मैसेज में लिखा है कि डिपो से जुड़े सभी राशन कार्ड धारक 20 रुपये लेकर डिपो पर झंडा लेने पहुंचे. झंडा न लेने वालों को अगस्त महीने का गेहूं नहीं दिया जाएगा.

Related Articles

Back to top button