JharkhandRanchi

पुलवामा हमले में शहीद हुए रतन ठाकुर के बेटे को 25 दिन बाद मिली हॉस्पिटल से छुट्टी

Ranchi: 14 फ़रवरी को पुलवामा हमले में शहीद हुए बिहार के भागलपुर के रहनेवाले रतन ठाकुर के बीमार नवजात पुत्र को आखिरकार 25 दिनों के बाद रानी चिल्ड्रन हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई. नवजात बच्चे को सांस लेने में दिक्कत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 25 दिनों तक चले इलाज के बाद रतन ठाकुर के बेटे को हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई. बच्चा अब पूरी तरह से स्वस्थ है. बच्चे की अस्पताल से छुट्टी को लेकर अस्पताल प्रबंधन और सीआरपीएफ के डीआइजी ने संयुक्त रूप से जानकारी दी.

इसे भी पढ़ें – राष्ट्रवाद के साथ विकासवाद के मुद्दे पर चुनाव लड़ रही भाजपाः सीपी सिंह

बच्चे को सांस लेने में हो रही थी दिक्कत

14 फ़रवरी को पुलवामा हमले में शहीद हुए बिहार के भागलपुर के रतनपुर गांव रहनेवाले रतन ठाकुर की पत्नी राजनंदिनी देवी ने 6 अप्रैल को अपने दूसरे बच्चे को जन्म दिया. डॉक्टरों ने बताया कि बच्चे का जन्म समय से पहले हो गया, जिसके कारण उसे कुछ स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां हैं. इसी के चलते उसे भागलपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. पर हालत में कोई सुधार न होने के कारण बेहतर इलाज के लिए भागलपुर के डॉ अजय कुमार सिंह ने उसे रांची के रानी चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में रेफर कर दिया गया था.

इसे भी पढ़ें – महागठबंधन के समर्थन में आये जन संगठन, कहा-सरकार की नीयत ठीक नहीं, चुनाव में जन मुद्दे गायब 

शहीद के बेटे से मिलने आये थे अभिनेता विवेक ओबेरॉय

पुलवामा हमले के शहीद रतन ठाकुर के नवजात को देखने अभिनेता विवेक ओबेरॉय शुक्रवार को रांची पहुंचे थे. अभिनेता विवेक ओबेरॉय ने दो लाख रुपये की मदद भी की थी. राजधानी के बरियातू रोड स्थित रानी चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में भर्ती पुलवामा हमले में शहीद के इलाजरत बेटे से उन्‍होंने मुलाकात की और स्वस्थ होने की कामना की थी.

इसे भी पढ़ें – टीबी के खात्मे के लिए सहयोग को तैयार हैं हम, फंड की नहीं है कमी: डॉ कुलकर्णी

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close