JharkhandNEWSRanchi

रेप के आरोपी आरपीएफ जवान की बर्खास्तगी वापस, जांच होने तक रहेगा निलंबित

RANCHI: रांची में नाबालिग लड़की के साथ शारीरिक व मानसिक शोषण के आरोप लगे जवान शंभु ठाकुर की बर्खास्तगी वापस हो गई है. अब जांच होने तक वह निलंबित रहेगा. हाजीपुर रेल मुखालय ने आरपीएफ के उप मुख्य सुरक्षा आयुक्त के आदेश को निरस्त कर दिया है. मुखालय ने सभी तथ्यों का गहन अध्ययन करने के बाद यह निर्णय लिया है.

इसे भी पढ़ें : Ranchi News: हटिया स्टेशन से 48 किलो गांजा बरामद, वाराणसी ले जा रहे थे

बर्खास्तगी के तथ्यों में विरोधाभाष है. रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर आरोप लगाए गए थे तो नियमानुसार जांच करके दोषी पाए जाने पर आरोपी को दंडित करना उचित होता, जिसे दरकिनार किया गया है. इसलिए आरपीएफ अधिकारी के द्वारा दिए गए दंड को निरस्त किया जाता है. आरोपी जवान जांच होने तक निलंबित रहेगा. आरपीएफ अधिकारी ने आठ जून को आरपीएफ जवान को बर्खास्त कर दिया था और उससे दो दिन पहले छह जून को निलंबित कर दिया था. यह पूरा मामला प्रकाश में आने के बाद हाजीपुर रेल मुखालय ने जांच कराइ है. उसके बाद यह निर्णय लिया गया है.

इसे भी पढ़ें : पत्नी ने नहीं बनाया खाना तो पति ने मार डाला

advt

रेलवे गेस्ट हाउस में नाबालिग पीड़िता के साथ गलत हुआ है या नहीं, इसकी जांच के लिए आज आरपीएफ के डीआईजी रांची पहुंचेंगे. डीआईजी डीके मौर्या इस पूरे मामले की जांच करेंगे. डीआईजी मौर्या चक्रधरपुर डिविजन में सीनियर कमांडेंट के पद पर भी कार्य कर चुके हैं. फ़िलहाल वे हेड क्वार्टर हाजीपुर में पोस्टेड है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: