न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रंजय हत्याकांड: डिप्टी मेयर के मौसेरे भाई हर्ष को गिरफ्तार करने गई पुलिस लौटी खाली हाथ

धैया स्थित हर्ष सिंह के घर पर छापेमारी

610

Dhanbad: बहुचर्चित रंजय सिंह हत्याकांड में गिरफ्तार हुए मामा के इकबालिया बयान में हर्ष सिंह का नाम लिए जाने बाद से धनबाद पुलिस रेस हो गयी है.  गिरफ्तारी का वारंट कोर्ट से मिलते हीं पुलिस ने  मंगलवार को पूरे दल बल के साथ धैया  स्थित  हर्ष सिंह के घर पर छापेमारी की. लेकिन, वह नहीं मिला. बाद में पुलिस बैरंग लौट आई.

इसके पहले भी पुलिस कई बार अरेस्‍ट करने की कोशिश कर चुकी है. जब जब पुलिस हर्ष को पकड़ना चाहा इसकी भनक मिल जाती थी. उसके बाद वह आसानी से भागने में सफल हो जाता है.

सरेंडर नहीं किया तो होगी कुर्की जब्‍ती

hosp3

इसे भी पढ़ेंः रंजय सिंह हत्याकांड के आरोपी मामा को भेजा गया पुलिस कस्टडी में, खुल सकते हैं हत्या के कई राज

इस मामले में डीएसपी  विधि व्यवस्था  मुकेश कुमार ने कहा कि  कोर्ट से वारंट निर्गत होने पर  पुलिस  हर्ष को गिरफ्तार करने के लिए घर गई लेकिन वह  भाग गया. अब अगली कार्रवाई  को लेकर  कोर्ट से कुर्की जब्ती का आदेश लिया जाएगा. डीएसपी ने बताया कि इस बीच अगर वे खुद को सरेंडर कर देता है तो ठीक है अन्यथा कुर्की जब्ती की कार्रवाई की जाएगी.

हर्ष सिंह की फाइल फोटो

हत्‍याकांड के बाद रंजय सिंह भूमिगत

इसे भी पढ़ें: खुल रहे हैं रंजय सिंह हत्याकांड के राजः रघुकुल में रची गई थी साजिश, नीरज सिंह को नहीं थी भनक

हर्ष सिंह डिप्टी मेयर एकलव्य सिंह के मौसेरे भाई है और रंजन हत्याकांड में नाम आने के बाद से ही भूमिगत हैं. वहीं पुलिस की छापेमारी किये जाने के बाद कई अन्य बड़े घरानों के नाम का भी खुलासा हो सकता है.

रंजय सिंह झरिया विधायक संजीव सिंह का करीबी था और उसकी हत्या बिग बाजार के पास  सरेशाम गोलियों से भूनकर कर दी गई थी. रंजय हत्याकांड के प्रतिशोध स्वरूप ही पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह की हत्या हुई थी. उसी मामले में विधायक संजीव समेत पांचों शूटर अभी धनबाद जेल में बंद हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: