JharkhandRanchi

राजधानीवासियों को जल्द मिलेगा हाइजेनिक मीट, बुधवार को खुल सकता है स्लॉटर हाउस का नया टेंडर

  • दो कंपनियों एमटीएस और जैस्पर ने दिखायी है रुचि

Ranchi : राजधानीवासियों को जल्द ही हाइजेनिक मीट मिलने वाला है. रांची नगर निगम द्वारा कांके में बनाये स्लॉटर हाउस का नया टेंडर बुधवार को खुल सकता है. इस नये टेंडर में दो कंपनियों ने भागीदारी की थी.

कंपनियों का नाम ‘माइक्रो ट्रांसमिशन सिस्टम (एमटीएस)’ और जैस्पर है. दोनों ही कंपनियां दिल्ली की हैं. इसमें एमटीएस कंपनी ने ही शुरुआत में स्लॉटर हाउस में मीट कटाने का काम किया था. हालांकि बाद में राजधानी स्थित कारोबारियों ने अपने व्यवसाय में प्रतिकूल प्रभाव पड़ते देख इसका विरोध किया था. काफी विवाद होने के बाद मामला हाइकोर्ट में चला गया, जिसके कारण स्लॉटर हाउस में मीट कटाने का काम शुरू भी नहीं सका था.

इसे भी पढ़ें – राम मंदिर के पक्ष में थे मुस्लिम, बाबरी कांड नहीं होता तो समझौते से बनता मंदिर: सुबोधकांत

advt

मेंटनेंस को लेकर निगम ने निकाला था नया टेंडर

बीते 27 मई को रांची नगर निगम ने एक टेंडर निकाला था. टेंडर स्लॉटर हाउस और 5 मीट शॉप के संचालन और मेंटेनेस को लेकर था. टेंडर को 30 मई से खोला भी गया था. इसमें उपरोक्त दोनों कंपनियों ने रूचि दिखायी थी. अब प्रक्रिया केवल टेंडर खुले जाने को लेकर रूकी हुई है. निगम के स्वास्थ्य शाखा से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को टेंडर खोला जा सकता है.

इसे भी पढ़ें – सूबे के श्रमिक बाहर काम करने जा रहे तो करा लें श्रमाधान पोर्टल पर पंजीयन, मिलेंगे कई लाभ

कई बार निकला टेंडर, किसी ने नहीं दिखायी रूचि, तो फ्री में देने को तैयार हुआ निगम

बता दें कि राजधानीवासियों को हाइजेनिक मीट खिलाने के लिए रांची नगर निगम ने 18 करोड़ की लागत से एक अत्याधुनिक स्लॉटर हाउस बनाया था. कांके में बने इस स्लॉटर हाउस को बनाने में करीब 18 करोड़ रुपये की लागत आयी थी.

लंबे इतंजार के बाद स्लॉटर हाउस का उद्घाटन मई 2018 को किया गया. बाद में राजधानी के चार स्थानों मधुकम, कांटाटोली, मोराबादी और बरियातू में हाइजेनिक मीट शॉप भी खोला गया था. इसे चलाने के लिए निगम ने कई बार टेंडर निकाला. लेकिन यहां काम पूरा नहीं सका.

adv

बाद में नगर निगम इसे फ्री में देने को तैयार हो गया. इसके लिए निगम ने दिल्ली की एक कंपनी ‘माइक्रो ट्रांसमिशन सिस्टम’ से एक एकरारनामा किया. लेकिन कारोबारियों के हाईकोर्ट में चले जाने के बाद कंपनी भी यहां काम नहीं शुरू कर पायी.

इसे भी पढ़ें – कोरोना के इलाज में इस तरह दिखायी दे रही है अमीर और गरीब के बीच की खाई

advt
Advertisement

11 Comments

  1. 108345 322272This style is spectacular! You naturally know how to maintain a reader amused. Between your wit and your videos, I was almost moved to start my own blog (properly, almostHaHa!) Fantastic job. I genuinely enjoyed what you had to say, and a lot more than that, how you presented it. Too cool! 146792

  2. Hi there, i read your blog from time to time and i own a similar one and
    i was just curious if you get a lot of spam remarks?
    If so how do you protect against it, any plugin or anything you can suggest?

    I get so much lately it’s driving me mad so any assistance is very
    much appreciated.

  3. It’s truly a nice and useful piece of info. I am glad that you just
    shared this useful info with us. Please stay us
    informed like this. Thanks for sharing.

  4. Very good article! We are linking to this particularly great content on our site. Keep up the great writing.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button