न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फुल फॉर्म में नजर आयीं रांची की नई एसडीओ, हाथ में डंडा ले ऑटो चालकों को खदेड़ा

बेतरतीब तरीके से ऑटो लगाने वालों की लगाई क्लास

284

Ranchi: रांची की नई सदर एसडीओ कमान संभालते ही फुल फॉर्म में नजर आयीं. शहर में बेतरतीब तरीके से चलने वाले ऑटो चालकों पर लगाम कसते हुए, एसडीओ गरिमा सिंह खुद ही हाथों में डंडा लिए इन्हें खदेड़ती नजर आयीं. इस दौरान उन्होंने फिरायालाल चौक के पास और सेंटेविटा अस्पताल के समीप जैसे-तैसे ऑटो खड़ा करने और चलाने वालों को खदेड़ा.

इसे भी पढ़ेंःललितपुर पावर प्लांट के कोयला ट्रांसपोर्टिंग मामले में ट्रांसपोर्टर पर FIR, जांच के घेरे में CCL के जीएम, पीओ व अन्य अधिकारी 

हाथों में डंडा लिए ऑटो चालकों को खदेड़ा

हाथों में डंडा लिए गरिमा सिंह ने खुद ऑटो चालकों को खदेड़ा

गरिमा सिंह रांची की जाम और बेतरतीब तरीके से चलते वाहनों को देखकर भड़क गयीं. जिसके बाद सड़क पर तैनात पुलिस से उनका डंडा अपने हाथों में लेकर, खुद ही कमान संभाल ली. और फिरायालाल चौक से लेकर सेंटेविटा अस्पताल के बाहर खड़े बेतरतीब ऑटो एवं वाहनों को खदेड़ने शुरू कर दिया. जिसे देखते हुए टेंपो चालक अपना ऑटो को लेकर भागते नजर आए.

अस्पताल संचालक को भी चेतावनी

silk_park

सदर एसडीओ गरिमा सिंह ने इस दौरान अस्पताल प्रबंधन एवं अस्पताल के बाहर खड़े ऑटो चालकों को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि फिर से इस तरीके से ऑटो लगायी तो आप लोगों की खैर नहीं. साथ ही अस्पताल संचालक को भी सही ढंग से वाहन खड़ा करने का निर्देश दिया.

वही ऑटो चालकों को इस बार चेतावनी देकर छोड़ दिया. साथ ही कहा कि अगली बार ऐसा करने पर जुर्माना वसूला जायेगा.

इसे भी पढ़ेंःफाइलों में दफन हो गये 75000 करोड़ के एमओयू, अब 56000 करोड़ का निवेश भी अटका

पहली बार निकली सड़कों पर

एसडीओ का पद संभालने के बाद गरिमा सिंह पहली बार सड़क पर उतरकर खुद ही कमान संभालती दिखीं.  उन्होंने ऑटो चालकों को ट्रैफिक नियमों का पालन करने एवं उचित ढंग से ऑटो खड़ी करने के सख्त आदेश दिये. हालांकि इससे पहले उन्होंने टाटीसिलवे के होरहाप ग्राम में छापेमारी कर अवैध महुआ जब्त किया था. इन दोनों कार्रवाई से सदर एसडीओ गरिमा सिंह ने अपने तेवर दिखा दिये है.

इसे भी पढ़ेंःसीएम चाचा रोज ही लुटती है हमारी इज्जत, कभी मालिक तो कभी साहेब रात में नोचते हैं, बचाइए ना हमें

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: