न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्थापना दिवस पर हंगामा करने वाले रांची के 218 पारा शिक्षक होंगे बर्खास्त, डीसी ने बीडीओ और बीईओ को दिया निर्देश

2,637

Ranchi: 15 नवंबर को स्थापना दिवस समारोह में हंगामा करना रांची जिला के 218 पारा शिक्षकों को महंगा पड़ा. रांची डीसी राय महिमापत रे ने न्यूज विंग को बताया कि जिले के करीब 218 पारा शिक्षकों की पहचान की गयी है, जो स्थापना दिवस पर अपने स्कूल का काम छोड़ कर मोरहाबादी मैदान में हंगामा करने पहुंचे थे. ऐसे सभी 218 पारा शिक्षकों को बर्खास्त करने की प्रक्रिया चल रही है.

इसे भी पढ़ेंःगोलियों की गूंज और धमाकों के बीच मना राज्य का स्थापना दिवस, नौ कैबिनेट मंत्रियों ने नहीं की शिरकत

साथ ही बताया कि पारा शिक्षकों की नियुक्ति ग्राम शिक्षा समिति करती है. लेकिन उन्हें बर्खास्त करने का पावर बीडीओ और बीईओ को है. ऐसे सभी पारा शिक्षकों की लिस्ट रांची प्रशासन ने तैयार कर ली है, जिन्होंने स्थापना दिवस के वक्त हो रहे कार्यक्रम के दौरान हंगामा किया है. सभी को बर्खास्त किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें: स्थापना दिवस अपडेटः पारा शिक्षकों के प्रदर्शन को रोकने के लिए मोरहाबादी में हवाई फायरिंग, पुलिस का इनकार

स्थापना दिवस के वक्त पारा शिक्षकों ने किया था हंगामा

पारा शिक्षकों ने अपनी मांग को लेकर अपने तय कार्यक्रम के तहत रांची स्थित मोरहाबादी मैदान में स्थापना दिवस के कार्यक्रम के दौरान हंगामा किया था. कार्यक्रम के शुरु होने से लेकर कार्यक्रम खत्म होने तक पारा शिक्षक हंगामा करते रहे. पुलिस को उन्हें खदेड़ने के लिए स्टन गन ग्रेनेड (इस तरह की फायरिंग में बहुत तेज आवाज होता है पर जानमाल का नुकासन नहीं होता) से फायरिंग करनी पड़ी. कई बार लाठी चार्ज करना पड़ा. कार्यक्रम के खत्म होने पर पारा शिक्षकों ने मोरहाबादी रोड को जाम कर दिया था. साथ ही कार्यक्रम में वो किसी तरह घुस गए और सीएम के भाषण के दौरान हंगामा करने लगे. कुर्सियां फेंकी, सीएम रघुवर दास के खिलाफ नारेबाजी की. पुलिस और प्रशासन को पारा शिक्षकों ने काफी परेशान किया.

इसे भी पढ़ेंःभूल गयी सरकारः न दिल्ली जैसी सुविधाएं मिलीं, न सभी गांवों में पहुंची बिजली

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: