न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची से जल्द शुरू होगी चेन्नई व अहमदाबाद के लिए विमान सेवा, लगेगा तीन नया एयरोब्रिज

बिरसा मुंडा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का नया एप्रोन बना, और फ्लाइट रखने में होगी सहुलियत

42

Ranchi : झारखंड से जल्द ही तमिलनाडू की राजधानी चेन्नई और गुजरात की राजधानी अहमदाबाद के लिए सीधी विमान सेवा शुरू की जायेगी. राजधानी रांची से देश के सभी महत्वपूर्ण शहरों के लिए विमान सेवाएं संचालित हैं. चेन्नई और अहमदाबाद के लिए भारतीय विमानन प्राधिकरण (एएआइ) की ओर से निविदा भी आमंत्रित की गयी है. इसके लिए सेक्टर का चयन भी कर लिया गया है. एएआइ के निदेशक डॉ प्रभात रंजन के अनुसार रांची से प्रति दिन 31 फ्लाइट का संचालन किया जा रहा है. सुबह 7.30 बजे से लेकर रात्रि 10.30 बजे तक गो एयर, एयर एलायंस, इंडिगो, एयर विस्तारा, एयर इंडिया, एयर एशिया के विमान अपने गंतव्य के लिए उड़ान भरते हैं. उन्होंने कहा कि बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर जल्द ही तीन नये एयरोब्रिज लग जायेंगे. अभी मलयेशिया की बकूका कंपना के दो एयरोब्रिज गेट नंबर तीन और गेट नंबर-5 पर लगे हैं.

वहीं तीन नये एयरोब्रिज के लगने से अधिक विमानों की उड़ान संभव हो पायेगी. उन्होंने कहा कि एयरोब्रिज के लिए चीन की कंपनी को कार्यादेश दिया जा चुका है. एयरपोर्ट परिसर पर विमानों की पार्किंग के लिए नया एप्रोन भी लगभग तैयार हो गया है. नये एप्रोन पर चार विमान रखे जा सकेंगे. फिलहाल एप्रोन पर चार विमान ही एक साथ रखे जा सकते हैं. जिस तरह विमानों की संख्या लगातार बढ़ रही है, उसे देखते हुए एप्रोन का विस्तार जरूरी हो गया था.

कहां-कहां के लिए है रांची से विमान सेवा

झारखंड की राजधानी से फिलहाल नयी दिल्ली, हैदराबाद, बेंगलुरू, मुंबई, कोलकाता, पटना, भुवनेश्वर, रायपुर के लिए सीधी विमान सेवा है. इसके अलावा चेन्नई, पुणे, जयपुर, भोपाल, जम्मू, बागडोगरा और अन्य जगहों के लिए कनेक्टिंग फ्लाइट की सुविधा वाया दिल्ली और कोलकाता से है. रांची एयरपोर्ट से प्रति दिन तीन हजार से अधिक लोग विमान से यात्रा करते हैं. अधिकतर फ्लाइट में 80 फीसदी से अधिक की सीटिंग ऑक्यूपेंसी है. रांची से दिल्ली के लिए दिनभर में दस से ज्यादा फ्लाइट रांची से हैं.

इसे भी पढ़ें –  जल स्रोत है ही नहीं और पानी पहुंचाने के लिए सरकार खर्च कर रही है करोड़ 290.88

इसे भी पढ़ें – 10 जनवरी को एक लाख युवाओं को नियुक्ति पत्र बांटने का है लक्ष्य, अब तक 81,383 का ही हो सका है चयन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: