JharkhandRanchi

गरीबों का सुपर मार्केट बने रांची का वेंडर मार्केट : महेश पोद्दार

Ranchi: राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने कहा है कि रांची के स्ट्रीट वेंडर्स की उनके प्रति नाराजगी समझ से परे है और यह प्रायोजित कार्यक्रम प्रतीत होता है. उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा वेंडर मार्केट के निर्माण और उसमें स्ट्रीट वेंडर्स को स्थान देने के खिलाफ कभी कुछ भी नहीं कहा गया. बल्कि इसके विपरीत, मैंने शहर के हर मुहल्ले में सब्जी विक्रेताओं सहित तमाम वेंडर्स के लिए छोटे-छोटे मार्केट बनाने की वकालत की है.

इसे भी पढ़ें – न्यूज विंग की खबर पर BJP ने लिया संज्ञान, कहा- आदिवासियों को आगे कर मिशनरी संस्थाएं हड़प रही हैं जमीन

advt

श्री पोद्दार ने कहा कि उनका मानना है कि सड़क पर सब्जी बेचनेवालों में बड़ी संख्या किसानों की भी है, जो पहले खेत में प्रतिकूल मौसम और परिस्थियों का सामना करते हुए फसल उगाते हैं और फिर इसी तरह की तकलीफदेह परिस्थियों में सड़क पर बैठ कर सब्जी बेचते हैं. ऐसे लोगों को शहर के हर मुहल्ले में वेंडर मार्केट बना कर कारोबार की जगह देने के हमेशा हिमायती रहे हैं.

adv

उन्होंने कहा कि यह सत्य है कि मैंने अटल जी के नाम पर धूप- बरसात- शीतलहरी की तकलीफ उठा कर कारोबार करनेवाले स्ट्रीट वेंडर्स के लिए बने इस वेंडर मार्केट में बैंक्वेट हॉल, शो रूम, दफ्तर आदि के लिए स्थान आवंटित किये जाने के खिलाफ राय जाहिर की है और उस पर आज भी कायम हूं. मेरे सभी पत्र, सदन में उठाये गये सवाल और सोशल मीडिया में की गयी टिप्पणियां पूर्णतः सार्वजनिक हैं जिनके माध्यम से इसकी पुष्टि की जा सकती है. लोकतंत्र में समर्थन और विरोध स्वाभाविक प्रक्रिया है और इसलिए मैं अपने किसी कथ्य या कृत्य के समर्थन या विरोध के लिए सदैव तैयार रहता हूं, किन्तु मुझे चिंता इस बात की है कि मेरे प्रायोजित विरोध की आड़ में स्ट्रीट वेंडर्स के हितों पर कुठाराघात की साजिश सफल न हो जाये.

इसे भी पढ़ें – विदेश से कर्ज जुटाना कहीं भारत को विदेशी ताकतों का गुलाम बनाने की तैयारी तो नहीं

श्री पोद्दार ने कहा कि मैं तो चाहता हूं कि अटल जी के नाम पर वेंडर्स को स्थापित करने के प्रयोजन से बना यह पूरा भवन पूर्णतः वेंडर्स को समर्पित हो. यह भवन पूरे देश में गरीबों के सुपर मार्केट के तौर पर पहचान पाये और इस भवन में पुनर्वासित स्ट्रीट वेंडर्स के अलावा और किसी की दुकान नहीं लगने दी जाये, किसी अन्य प्रयोजन के लिए इस भवन का इस्तेमाल न हो. भवन के हर तल्ले को अलग-अलग प्रकृति की वस्तुओं के लिए चिन्हित/आरक्षित कर दिया जाये. एक तल्ले पर रेडीमेड कपड़ों की दुकानें हों तो दूसरे तल्ले पर खाने-पीने की वस्तुओं का कारोबार हो.  किसी तल्ले पर जूते- चप्पलें बिकें तो किसी पर श्रृंगार प्रसाधन.

उन्होंने यह भी कहा कि जिस प्रकार रांची प्रेस क्लब का भव्य भवन बना कर सरकार ने इसे पत्रकारों के निर्वाचित निकाय को सौंप दिया है और अब पत्रकारों का संगठन ही इसकी देखरेख कर रहा है, उसी प्रकार वेंडर्स मार्केट भी वेंडर्स को ही सौंप दिया जाये. इसी भवन में वेंडर्स एसोसिएशन का कार्यालय हो जिसके माध्यम से वेंडर्स मार्केट की तमाम गतिविधियां संचालित हों.

श्री पोद्दार ने कहा कि वे शीघ्र ही इस आशय का अनुरोध राज्य सरकार से भी करेंगे ताकि स्ट्रीट वेंडर्स को भी सम्मानजनक तरीके से कारोबार की सुविधा मिल सके.

इसे भी पढ़ें – ISRO ने लॉन्च किया चंद्रयान-2, चंद्रमा के साउथ पोल पर उतरेगा

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: