JharkhandLead NewsRanchi

रांची-वाराणसी इकोनॉमिक कॉरिडोर: हरियाणा की कंपनी एमजी कंस्ट्रक्शन को खजूरी से वायधनगंज फोरलेन रोड निर्माण का मिला काम

846 करोड़ सिविल वर्क और 367 करोड़ जमीन अधिग्रहण में होगा खर्च

Special Correspondent

Ranchi: रांची से वाराणसी इकोनॉमिक कॉरिडोर को जोड़ने वाली खजूरी से वायधनगंज सेक्शन के फोरलेन सड़क निर्माण का टेंडर फाइनल हो गया है. नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने इसके निर्माण का जिम्मा हरियाणा की कंपनी एमजी कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को दिया है. यह कंपनी टेंडर में एलवन (Lowest One) हुई थी. एनएचएआई के इंजीनियरों ने बताया कि इस सड़क का निर्माण 846.03 करोड़ की लागत से किया जायेगा.

वहीं,अलग से जमीन अधिग्रहण के काम में 367 करोड़ का प्रावधान किया गया है. यानी इस फोरलेन सड़क निर्माण में करीब 1213 करोड़ रुपये की लागत आयेगा. सिविल वर्क का कार्य छह माह के अंदर प्रारंभ किया जायेगा. वहीं,जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई की जा रही है,कई जगह अधिग्रहण का काम पूरा है.

Catalyst IAS
SIP abacus

इसे भी पढ़ें:आम और खास के बीच चर्चा का बाजार गरम, आखिर 17 मई को क्या होगा?

MDLM
Sanjeevani

41 किमी लंबी सड़क यूपी की सीमा से जुड़ेगी

नेशनल हाइवे 75 में पड़ने वाली यह सड़क गढ़वा बाइपास से जुड़ेगी. इंजीनियरों ने बताया कि जिस जगह गढ़वा बाइपास निर्माण की सीमा समाप्त होगी वहीं पर खजुरी के पास से फोरलेन सड़क का निर्माण शुरू किया जायेगा जो उत्तरप्रदेश के वायधनगंज से मिलेगी.

41 किमी इस सड़क को झारखंड नेशनल हाइवे अथॉरिटी की ओर से बनाया जायेगा. वायधनगंज से आगे भी फोरलेन सड़क बनेगी जिसे उत्तर प्रदेश की एनएचएआई विंग बनवायेगी जो वाराणसी से मिलेगी.

ऐसे में रांची से कुडू,चंदवा होते हुए यह सड़क गढ़वा बाइपास से निकलते हुए यूपी के वाराणसी तक जाने के लिए एक विकल्प मिलेगा. भारी वाहनों से लेकर छोटे वाहनों को बनारस जाने के लिए आसानी होगी.

इसे भी पढ़ें:पटना : गंगा नदी में दो अलग-अलग हादसों में छह डूबे, एसडीआरएफ की टीम ने बचाया

Related Articles

Back to top button