न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सरकार की भेद भाव की नीति के विरोध में प्राथमिक शिक्षक संघ का विरोध प्रदर्शन

जरूरत पड़ेगी तो आत्मदाह भी करेंगे : संघ

372

Ranchi : शिक्षा व्यवस्था को लेकर सरकार कितना सजग है ये इस बात से स्पष्ट है की महीने में कम से कम दो बार शिक्षकों को अपने हक़ के लिए सड़क पर प्रदर्शन करते देखा जा गया. सरकार द्वारा आदेश दिए जाने के बाद भी अधिकारी उनपर अमल नहीं करते,  इसका खामियाजा शिक्षकों को चुकाना पड़ता है. सरकार की भेद भाव की नीति के विरोध में राज्य भर से आये शिक्षक ने झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले राज्यभवन समक्ष विरोध प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ जम कर नारे लगाये. प्रदर्शन कर रहे संघ के अध्यक्ष राजेंद्र शुक्ला ने कहा कि ये हमारे लिए शर्म की बात है कि आज शिक्षक होकर भी हम सड़क पर प्रदर्शन कर रहे है, उन्होंने कहा कि सरकार के सभी जिला अधिकारी निकम्मे है सरकार ने दस बार से अधिक जिला अधिकाारियों को प्रोन्नति देने को कहा पर प्रोन्नति नहीं दी गयी. शिक्षकों को नजरअंदाज किये जाने का ही परिणाम है, शिक्षा व्यवस्था में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है.

 2000 हज़ार से लेकर 2018 तक बहुत जिलो में नही दिया आज स्थिति यह है कि सरकार कह रही है कि भूतलक्षी प्रभाव से हम वेतन नहीं देंगे उसमे हमारी क्या कसूर है उनके पदाधिकारी यदि नही दिए है तो इसमें मेरा कोई कसूर नही है तो इस लिए भूतलक्षि प्रभाव से वेतनमान दिया जाए. उन्होंने कहा हमारी मांगें सरकार नहीं मानती है तो हमारी लड़ाई लंबी होगी, जरूरत पड़ेगी तो आत्मदाह भी करेंगे.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: