न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची रेड क्रॉस सोसाइटी को किया गया भंग, 30 जनवरी तक किया जायेगा पुनर्गठन

45

Ranchi : रांची जिला रेड क्रॉस सोसाइटी को भंग कर दिया गया है. उपायुक्त रांची ने अपर जिला दंडाधिकारी विधि-व्यवस्था सह उपाध्यक्ष रेड क्रॉस सोसायटी, रांची से प्राप्त प्रतिवेदन के आधार पर रेड क्रॉस सोसाइटी की जिला प्रबंध समिति को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है. प्रबंध समिति का पुनर्गठन पारदर्शिता के साथ चुनाव कराकर किया जायेगा. चुनाव होने तक अपर समाहर्ता सह सहायक बंदोबस्त पदाधिकारी राजीव कुमार सिंह को संस्था का प्रशासक नियुक्त किया गया है. 30 जनवरी 2019 तक भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी जिला रांची की प्रबंध समिति का चुनाव संपन्न कराते हुए पुनर्गठित करने का आदेश दिया गया है.

रिपोर्ट में कहा गया था- नियम के अनुरूप काम नहीं कर रही सोसाइटी

जिला दंडाधिकारी सह उपाध्यक्ष भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी रांची द्वारा प्रतिवेदित किया गया था कि भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी रांची का क्रियाकलाप नियम के अनुरूप उचित ढंग से नहीं चल रहा है. साथ ही उन्होंने कहा था कि एग्जीक्यूटिव कमिटी की मीटिंग में लिये गये निर्णय का न तो अनुपालन किया जा रहा है और न ही बैठक की कार्यवाही पर सभी सदस्यों से हस्ताक्षर कराये जाते हैं. रेड क्रॉस सोसाइटी में कार्यरत कर्मचारियों को नियमित भुगतान भी नहीं हो पा रहा है. भुगतान को लेकर कर्मियों द्वारा लिखित रूप से अनुरोध भी किया गया है. इसी वजह से कमिटी को भंग करने की बात कही थी.

बिना चुनाव के ही सचिव की नियुक्ति की बात आयी सामने

आईआरसीएस नियमावली के अनुसार स्पष्ट है कि रांची एक्जीक्यूटिव कमिटी सेक्रेटरी नियुक्त करेगी, जो हर दिन के कामकाज और ब्रांच के एडमिनिस्ट्रेटिव स्ट्रक्चर को मैनेज करेगा, परंतु भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी रांची की डिस्ट्रिक्ट ब्रांच एग्जीक्यूटिव कमिटी द्वारा सेक्रेटरी नियुक्त करने के स्थान पर स्वयं ही एक सदस्य डॉ उषा नरसरिया को तथाकथित रूप से सचिव मनोनीत कर लिया गया. जिला प्रबंध समिति का गठन चुनाव द्वारा किया जाना था. इसमें 15 सौ से अधिक वोटर को वोट देने थे, परंतु किसी को भी सूचित नहीं किया गया.

इसे भी पढ़ें- आरसीआइ की ऑनलाइन परीक्षा के बाद भी खाली हैं 9196 सीटें

इसे भी पढ़ें- 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में पूर्व मंत्री बंधु तिर्की, आय से अधिक संपत्ति का मामला

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: