न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची रेड क्रॉस ब्लड बैंक 350 के बजाय ले रहा 1200 रुपये, कन्वेनर की शिकायत को चेयरमैन कर रहे इग्नोर

263

Ranchi: रेड क्रॉस ब्लड बैंक रांची में प्रति यूनिट खून के बदले 1200 रुपये चार्ज कर रहा है. एनबीटीसी की गाइडलाइन के अनुसार कोई भी ब्लड बैंक 850 रुपये से अधिक खून की प्रोसेसिंग चार्ज के रूप में नहीं वसूल सकता. जबकि अधिकतर मामलों में जिस ब्लड ग्रुप की जरूरत पड़ती है, उसके लिए 350 रुपये से अधिक नहीं वसूल सकते. रेड क्रॉस के कन्वेनर ने इसको लेकर इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी के चेरयमैन को लगातार पत्र के जरिये शिकायत भी दर्ज करायी. चेरयमैन शिकायत को लगातार इग्नोर कर रहे हैं. उन्होंने अपने लिखे पत्र में स्पष्ट किया है कि रेड क्रॉस रांची के एमओ लगातार एग्जीक्यूटिव कमिटि को दिग्भ्रमित कर रहे हैं. एमओ सुशील कुमार कहते हैं कि एनबीटीसी की गाइडलाइन सिर्फ स्टेट ब्लड ट्रांसफ्यूजन काउंसिल के लिए है और किसी अन्य ब्लड बैंक के लिए नहीं है.

इसे भी पढ़ें – अब तक झारखंड में नहीं लागू हो सका सवर्ण आरक्षण, सीएम रघुवर दास की घोषणा के बीते 120 दिन

दो साल से वसूल रहा है 1200 रुपये

रेड क्रॉस ब्लड बैंक दो साल से भी अधिक समय से रांची के मरीजों से प्रति यूनिट खून के बदले 1200 रुपये वसूल रहा है. जबकि एनबीटीसी के अनुसार खून की अपर सिलिंग की दर 850 रुपये ही है. जबकि 3 मई 2018 को सभी ब्लड बैंक को जारी निर्देश के अनुसार होल ब्लड के प्रति युनिट के लिए नेको सर्पोटेड ब्लड बैंक 350 रुपये से अधिक नहीं ले सकते. वहीं पैक सेल के लिए अधिकतम 850 रुपये प्रोसेसिंग चार्ज के रूप में ले सकते हैं. पर रांची रेड क्रॉस किसी भी तरह के खून के लिए 1200 रुपये वसूल रहा है.

इसे भी पढ़ें – राजमहल में त्रिकोणीय मुकाबला, परिणाम चौंकानेवाले होंगे, अब भी देश के पिछड़े इलाकों में शामिल है क्षेत्र: वृंदा करात

Related Posts

26 सालों में भारत में दोगुनी रफ्तार से बढ़ रहा कैंसर का खतरा

2040 तक दुनिया के 1.5 करोड़ से ज्यादा लोगों को सालाना कीमोथैरेपी की पड़ेगी जरूरत: स्टडी

तीन बार कंवेनर लिख चुके हैं पत्र

रांची रेड क्रॉस सोसाइटी ब्लड बैंक के कंवेनर अतुल गेरा ने इडियन रेड क्रॉस सोसाइटी के चेयरमेन को तीन बार पत्र के जरिये कंप्लेन किया है. 19 मार्च, 18 अप्रैल और 9 मई को इन्होंने पूरे मामले की विस्तृत रिपोर्ट के साथ अपनी शिकायत भेजी, पर अभी तक किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है. या मामले को जानबूझ कर इग्नोर कर दिया जाता है.

इसे भी पढ़ें – देवघर : पीएम की सुरक्षा में चूक, सभास्थल के पास गोलि‍याें के साथ पहुंचा युवक, पकड़ाया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: