न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

रांची पुलिस का साल 2018 : कुछ चर्चित मामलों में रहे हाथ खाली तो कुछ का किया उद्भेदन

2018 में जहां ज्यादातर हत्या की घटनाएं जमीन विवाद में हुईं तो वहीं लूट, चोरी छिनतई और दुष्कर्म की घटना भी सुर्खियों में रहीं.

51

Ranchi : पुलिस के लिए सफलता और असफलताओं से भरा रहा साल 2018. इस दौरान जहां रांची पुलिस कुछ चर्चित मामलों का खुलासा करने में नाकाम रही तो वहीं कुछ चर्चित मामलों का सफलतापूर्वक उद्भेदन भी किया. 2018 में जहां ज्यादातर हत्या की घटनाएं जमीन विवाद में हुईं तो वहीं लूट, चोरी छिनतई और दुष्कर्म की घटना भी सुर्खियों में रहीं.

eidbanner

2018 के कुछ चर्चित मामलों का खुलासा करने में नाकाम रांची पुलिस

1.7 जुलाई की रात 8:30 बजे लालपुर थाना क्षेत्र के सब्जी बाजार के पास दो अपराधियों ने गुरुनानक स्कूल के शिक्षक शिव प्रसाद की गोली मार कर हत्या कर दी थी. घटना को अंजाम स्कूटी सवार दो अपराधियों ने दिया और लालपुर चौक की ओर भाग निकले. घटना की सूचना मिलने के बाद पीसीआर वैन वहां पहुंची और शिव प्रसाद को लेकर रिम्स पहुंची. जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था. घटना के पांच महीने बीत जाने के बाद भी पुलिस हत्याकांड के आरोपियों तक पहुंच पाने में असफल रही है.

 

2. 6 अप्रैल को लापता मारवाड़ी कॉलेज में आर्ट्स फोर्थ सेमेस्टर की छात्रा पुंदाग बस्ती निवासी अफसाना परवीन की हत्या कर दी गई थी. 9 अप्रैल को उसका अधजला शव रविवार को लोहरदगा जिले के कैरो में मिला था. अफसाना प्रवीण की हत्या में शामिल आरोपियों को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है. वैसे इस मामले का अनुसंधान लोहरदगा के कैरो थाना की पुलिस कर रही है.

 

सितंबर महीने में गया के रहने वाले बुधु दास अपनी पत्नी संग समाहरणालय परिसर में स्थित कैंटीन बंद करके स्कूटी से न्यू पुलिस केंद्र स्थित अपने आवास जा रहे थे. लेकिन जैसे ही वे सीएम आवास के पास पहुंचे, तो वहां एक बाइक पर सवार होकर आए तीन अपराधियों में से एक ने बुद्धू दास को सीने में सटाकर गोली मार दी थी. पुलिस अब तक इस मामले का भी खुलासा नहीं कर पाई है.

 

4. 2 दिसंबर की सुबह 9 बजे के आसपास बजरा के मुंडा चौक के सामी मुंडा अपने होटल के लिए पानी लाने निकला था. इसी दौरान बाइक सवार दो अपराधी वहां पहुंचे और रास्ता पूछने के बहाने सामी मुंडा को गोली मार दी. जिसके बाद स्थानीय लोगों ने उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया. जहां से बेहतर इलाज के लिए रिम्स रेफर किया गया था. लेकिन 15 दिसंबर को रिम्स में ऑपरेशन के दौरान सामी मुंडा की मौत हो गई थी. इस घटना को लेकर स्थानीय लोगों में खासा रोष देखा गया था. इस घटना के विरोध में स्थानीय लोगों ने इटकी रोड को जामकर प्रदर्शन भी किया था. लेकिन इस मामले में शामिल आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई है.

 

5 . 21 सितंबर की सुबह करीब 6:00 बजे पीसीआर 10 में शामिल पुलिस अधिकारी और पुलिसकर्मी राम मंदिर के पास चाय की दुकान पर चाय पी रहे थे. इसी दौरान बाइक से एक युवक आया. पुलिस ने उसे रुकने का इशारा किया. लेकिन युवक रुकने के बाद पुलिस वालों से उलझ गया और देखते ही देखते उनमें से एक ने पुलिसकर्मी की रायफल छीन ली और वहां से भागने लगा. जिसके बाद पीसीआर ने उसका पीछा किया तो उसने थोड़ी दूर जाने के बाद राइफल को सड़क पर फेंक दिया और खुद मोरहाबादी की तरफ भाग गया. लेकिन अभी तक इस मामले में राइफल लेकर भागने वाले आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई है.

 

ऐसे चर्चित मामले जिसका रांची पुलिस ने सफलतापूर्वक किया खुलासा

 

Related Posts

NewsWing Impact : ऐतवारी के चेहरे पर छलकी मुस्कान, पेंशन बनी, राशन बाकी

newswing.com पर खबर आने के बाद अधिकारी ने लिया संज्ञान, वृद्धा की सुध ली

mi banner add

1. 5 अक्टूबर को हुए व्यवसायी नरेंद्र सिंह होरा हत्याकांड का पुलिस ने सफलतापूर्वक खुलासा किया. पुलिस ने हत्याकांड में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था.

 

2. सुखदेवनगर थाना क्षेत्र के आर्यापुरी में 24 अगस्त को अज्ञात अपराधियों ने 24 साल के बीटेक के छात्र राकेश यादव की हत्या कर दी थी. जिसका खुलासा पुलिस ने किया था. वरीय पुलिस अधीक्षक, नगर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया था. जांच के दौरान सीसीटीवी फुटेज और अन्य साक्ष्यों के आधार पर गढ़वा से एक अभियुक्त की गिरफ्तारी की गई, उसकी निशानदेही पर पुलिस टीम ने हत्याकांड में प्रयुक्त हथियारों को भी बरामद कर लिया था.

 

3. 13 जुलाई को रांची पुलिस ने बरियातू के हिल व्यू रोड स्थित किंगलैंड स्कूल की संचालिका आरती कुमारी व उनके बेटे रितिक की हत्या मामले का खुलासा कर लिया और इस हत्याकांड में शामिल सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.

 

4 . सुखदेवनगर थाना क्षेत्र स्थित गंगानगर के रोड नंबर दो से 24 दिसंबर को अगवा किए गए कृष्णा मिश्रा को रांची पुलिस ने सकुशल बरामद कर लिया गया था. बच्चे के अपहरण के बाद रांची के एसएसपी अनीश गुप्ता ने टीम का गठन किया था. टीम ने तुपुदाना ओपी क्षेत्र के चितवादाग से बच्चे को बरामद किया था. मामले के तीन साजिशकर्ताओं को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था.

 

5. 6 नवंबर को रांची पुलिस और लातेहार पुलिस के संयुक्त अभियान में टीपीसी का एरिया कमांडर सहित चार नक्सली गिरफ्तार किए गए थे. नक्सलियों के मंसूबों पर पानी फेरते हुए पुलिस ने आतंक का पर्याय बने कमलेश गंजू उर्फ अंकित जी सहित 3 अन्य टीपीसी के सक्रिय सदस्यों को रांची और लातेहार की सीमा पर गुप्त सूचना के आधार पर गिरफ्त में लिया था. यह गिरोह किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में था. इस गिरोह के पास से सुरक्षा बलों से लूटे गए हथियार और बड़ी मात्रा में कारतूस बरामद किए गए थे. इनके पास से एक यूबीजीएल 56 राइफल, एक एके-47, एक एसएलआर, एक पिस्टल के अलावा बड़ी संख्या में कारतूस, मैगजीन आदि मिले थे.

इसे भी पढ़ें –

इसे भी पढ़ें –

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: