न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची पुलिस ने गंगानगर से अपहृत बच्चे कृष्णा को किया सकुशल बरामद, जल्द होगा मामले का खुलासा

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस ने बच्चे के अपहरण में शामिल आरोपी शिवानंद, अनिल सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है.

134

Ranchi :  सुखदेव नगर थाना क्षेत्र में हरमू के गंगानगर निवासी ठेकेदार छत्रपाल मिश्रा के 8 वर्षीय बेटे कृष्णा मिश्रा को पुलिस ने तुपुदाना ओपी क्षेत्र के चितवादाग गांव से सुकुशल बरामद कर लिया है. घर में बच्चे के वापस आते ही खुशी की लहर है. वहीं मोहल्ले में भी लोग काफी खुश हैं.  पुलिस ने बच्चे के अपहरण में शामिल आरोपी शिवानंद, अनिल सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस पूरे मामले का खुलासा पुलिस शाम तक प्रेस कॉफ्रेंस में करेगी. लेकिन फिलहाल जो जानकारी खुलकर सामने आयी है, उसके मुताबिक बच्चे के अपहरण में कुल पांच लोग शामिल थे. जिसमें मुख्य रूप से दो आरोपियों ने अपहरण की साजिश रची थी और बाकि तीन आरोपियों ने उनका साथ दिया था. वहीं बच्चे का अपहरण करने वाला मुख्य आरोपी छत्रपाल सिंह के यहां काम करने वाला मजदूर था. जिसे कुछ दिन पहले ही छत्रपाल ने  काम से निकाल दिया था और उसी का असर था कि आरोपी ने बच्चे का अपहरण कर लिया.

एसएसपी ने टीम का गठन कर मामले की शुरू की थी जांच

8 वर्षीय बच्चे कृष्णा मिश्रा के अपहरण मामले में एसएसपी अनीश गुप्ता के निर्देश पर एक टीम का गठन किया गया था. एसएसपी के द्वारा गठित किये गये टीम में सिटी एसपी सुजाता बिनापानी ,ग्रामीण एसपी आशुतोष शेखर, एएसपी अमित रेनू और कोतवाली डीएसपी अजीत कुमार विमल हटिया डीएसपी विनोद रवानी, धुर्वा थाना, जगन्नाथपुर थाना, तूपुदाना थाना और नगड़ी थाना के थाना प्रभारी को शामिल किया गया था. एसएसपी द्वारा गठित किए गए टीम ने कार्रवाई कर तुपुदाना ओपी क्षेत्र से बच्चे को सकुशल बरामद किया गया.

खेलने के दौरान हुआ था गायब

मिली जानकारी के अनुसार, 24 दिसंबर की शाम करीब 4:30 बजे आठ साल का कृष्णा मिश्रा अपने घर के बाहर खेल रहा था. इसी दौरान शिवानंद नाम के एक व्यक्ति के साथ वह करम चौक की ओर चला गया और फिर काफी देर बाद भी घर नहीं लौटा. इसके बाद परिजनों ने उसकी काफी खोजबीन की, लेकिन बच्चे का कोई अता-पता नहीं चल पाया. फिर बच्चे के परिजनों ने सुखदेव नगर थाना में शिकायत दर्ज कराई.

 40 लाख की मांगी गई फिरौती

मिली जानकारी के अनुसार, परिजनों से अपहरणकर्ताओं ने बच्चे को छोड़ने के एवज में 40 लाख की फिरौती फोन करके मांगी थी. वहीं बच्चे के अपहरण के पीछे किसी पहचान वाले का हाथ होने की आशंका जताई जा रही थी. पुलिस इस पूरे मामले पर जल्दी ही हर पहलू का खुलासा करेगी.

इसे भी पढ़ें – राजन तिर्की हत्याकांड: मामूली विवाद में दोस्तों ने की हत्या, पुलिस की गिरफ्त में आरोपी 

इसे भी पढ़ें – पहली बार हवाई जहाज में बैठे नवनिर्वाचित विधायक कोंगाड़ी, दिल्ली जाकर राहुल गांधी से मिल हुए गदगद,…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: