न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची : बिना परमिट के सड़कों पर धड़ल्ले से दौड़ रहे ऑटो, पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई

226

Ranchi : शहर में ऑटो चालकों की मनमानी के कारण आये दिन जगह-जगह सड़कें जाम रहती हैं. जिससे यात्रियों को काफी परेशानी होती है. वहीं राजधानी रांची में सड़क हादसे भी बढ़ रहे हैं. रांची में परमिट वाले ऑटो से ज्‍यादा बगैर परमिट वाले ऑटो चलते हैं. जबकि झारखंड हाईकोर्ट का सख्‍त आदेश है कि राजधानी में सिर्फ परमिट वाले ऑटो को ही चलने दिया जाए. इसके बावजूद रांची में धड़ल्‍ले से बगैर परमिट वाले ऑटो दौड़ रहे हैं. वहीं पुलिस-प्रशासन ने इसे लेकर अपनी आंखे बंद कर रखी है. उनके द्वारा किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जा रही है.

शहर में करीब 3500 ऑटो के पास है परमिट

शहर में करीब 3500 ऑटो की ही परमिट है. सख्त कानून नहीं होने के कारण बिना लाइसेंस के ऑटो भी सड़क पर घूमते हैं, जिस कारण शहर में ऑटो की संख्या बहुत ज्यादा हो गई है. जरूरत से ज्‍यादा ऑटो होने के कारण जगह-जगह जाम लग जाता है. इसके अलावा यात्री भी रास्ते में ही ऑटो को हाथ दिखा कर रोक देते हैं. वहीं दूसरी ओर ऑटो चालकों का कहना है कि उनके लिए स्टैंड नहीं बनाए गए हैं. और जो स्टैंड बने भी हैं वहां पैसेंजर रहते नहीं है. ऐसे में उन्हें यात्री बैठाने के लिए मजबूरन जहां-तहां ऑटो रोकना पड़ता है.

शहर में अवैध रूप से चल रहे हैं ऑटो

शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में ऑटोरिक्शा चालकों की मनमानी बाधा बन गयी है. ट्रैफिक पुलिस के द्वारा इन ऑटो चालकों पर सही तरीके से कार्रवाई भी नहीं होती है. शहर की सड़कों पर ओवरलोड ऑटो दौड़ रहे हैं. अपनी मर्जी के मुताबिक ऑटो चालक कहीं भी पैसेंजर को बैठने के लिए ऑटो रोक देते हैं. ऐसा लगता है कि इन मामलों में ट्रैफिक पुलिस और प्रशासन ने अपनी आंखे बंद कर रखी है. किशोरी यादव चौक पर एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि ऑटो चालकों की मनमानी पर प्रशासन की ओर से कोई सख्त कार्रवाई अभी तक नहीं हुई है और ना ही कोई सख्‍त कानून बना है. जिसकी वजह से मौके पर मौजूद ट्रैफिक पुलिस और पुलिसकर्मी भी कुछ नहीं कर पाते हैं. ऑटो चालकों को रूट पास और परमिट निर्धारित किया गया है फिर भी कुछ ऑटो चालक अवैध रूप से ऑटो चला रहे हैं.

क्या कहते हैं ट्रैफिक एसपी

ट्रैफिक एसपी संजय रंजन सिंह कहते हैं की बिना परमिट वाले ऑटो के लिए समय-समय पर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है , फिर भी अगर ऐसे ऑटो चल रही है तो निश्चित रूप से कार्रवाई करेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: