Crime NewsJharkhandRanchi

रांची : रिटायर्ड प्रोफेसर व दवा कारोबारी के घर लूटपाट मामले में पुलिस के हाथ अब भी खाली

विज्ञापन

Ranchi: गोंदा थाना क्षेत्र के कांके रोड स्थित माली टोली मोहल्ला में रहने वाले दवा कारोबारी के घर 31 जुलाई और 19 जुलाई की रात कांके थाना क्षेत्र के अरसंडे रोड कृषि बिहार कॉलोनी में रहने वाले रिटायर्ड प्रोफेसर डॉक्टर आइपी शर्मा के घर लगभग 10 लाख के जेवरात व नकद की लूटपाट हुई थी. पुलिस घटना के बाद से मामले की जांच में लगी थी. लेकिन अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं.

इन दोनों मामले में चड्डी बनियान गिरोह का हाथ सामने आया है. अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए रांची पुलिस दूसरे राज्यों की पुलिस से भी संपर्क कर चुकी है लेकिन अबतक कोई सफलता हाथ नहीं लगी है.

इसे भी पढ़ें- SC/ST छात्रों को दिल्ली सरकार का तोहफाः कोचिंग के लिए 40 हजार की जगह अब मिलेंगे डेढ़ लाख रुपये

मध्य प्रदेश से जुड़े अपराधियों का सामने आया लिंक

कांके थाना क्षेत्र के अरसंडे रोड कृषि बिहार कॉलोनी निवासी बीएयू के रिटायर्ड प्रोफेसर स्व डॉ आइपी शर्मा के घर 10 लाख के जेवरात व नकद लूटने के मामले में पुलिस को सुराग मिले हैं. घटना के पीछे मध्य प्रदेश से जुड़े अपराधियों का लिंक सामने आया है.

लिंक सामने आने के बाद रांची पुलिस ने एमपी पुलिस से संपर्क कर कुछ अपराधियों का फोटो और उनके पते का ब्योरा मांगा है. साथ ही संबंधित अपराधियों के सत्यापन में एमपी पुलिस से सहयोग मांगा है.

सूत्रों के अनुसार घटना के बाद पुलिस को जो सीसीटीवी फुटेज को मिले थे, उसमें कुछ अपराधियों का चेहरा दिख रहा है. घटना को अंजाम देने वाले चड्डी-बनियान गिरोह से जुड़े थे. फुटेज के आधार पर ही पुलिस को अपराधियों के बारे में सुराग मिले थे.

पुलिस का कहना है कि घटना में शामिल कुछ अपराधियों की पहचान भी हो चुकी है. उल्लेखनीय है कि 19 जुलाई की रात अपराधी स्व आइपी शर्मा के घर में डकैती के लिए घुस गये. अपराधियों ने उनकी पत्नी चंद्रकला शर्मा को पीट कर घायल कर दिया. इसके बाद करीब 10 लाख रुपये के जेवरात, नकद सहित अन्य सामान लूट कर फरार हो गये थे.

इसे भी पढ़ें- Jio Giga Fiber Plan में पा सकेंगे मुफ्त HD और 4K LED टीवी, जानें कौन-कौन-सा है प्लान

13 दिन बाद भी नहीं मिला कोई सुराग

मिसिर गोंदा में दवा व्यवसायी मनीष कुमार के घर हुई डकैती मामले में 13 दिन बाद भी पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला है. पुलिस अब डकैती कांड में जेल से छूटे 25 अपराधियों की लिस्ट चेक कर रही है.

पुलिस 16 संदिग्धों से पूछताछ के बाद उनके घरों की भी तलाशी ले चुकी है. पुलिस कांके राेड में कई जगहों पर लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल चुकी है. सीसीटीवी के आधार पर पुलिस को आशंका है कि घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी पीछे से एदलहातू के रास्ते भागे होंगे. लेकिन अब तक इस मामले में भी पुलिस कुछ स्पष्ट नहीं कर सकी है.

भीख मांगने और समान बेचने के बहाने चोर करते हैं घरों की रेकी

सूत्रों के मुताबिक चोरी, लूट और डकैती की घटना का अंजाम देने वाले अपराधी दिन में भीख मांगने और सामान बेचने के बहाने घरों की रेकी करते हैं. और फिर रात में घरों में चोरी  की घटना को अंजाम देते हैं.

इस तरह के गिरोह से जुड़े लोग घर का ताला काटकर या फिर बाउंड्री कूदकर घर में प्रवेश करते हैं फिर सभी घरवालों को कब्जे में लेकर चोरी की घटना का अंजाम देकर आसानी से फरार हो जाते हैं.

इसे भी पढ़ें- किसान-इंजीनियर जान दे रहे हैं और सरकार मुस्कुरा रही है

इन लूटपाट घटनाओं का नहीं हुआ है खुलासा

16 सितंबर 2018: पिठोरिया थाना के छोटकी कुम्हरिया में राजकुमार सिंह के घर में देर रात नौ की संख्या में आये अपराधियों ने परिवार के सभी सदस्यों को हथियार के बल पर एक कमरे में बंद कर दिया. उसके बाद 7 लाख रुपए की डकैती कर फरार हो गये. इस मामले में भी डकैती करने वाले अपराधियों का अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है. इस घटना के पीछे भी चड्डी बनियान गिरोह का हाथ सामने आया था.

10 नवंबर 2018: चड्डी बनियान गिरोह के अपराधियों ने नामकुम के सिदरौल निवासी गौरी शंकर शाह के घर में लूटपाट की थी. यहां घर के लोगों की बुरी तरह से पिटाई कर डकैतों ने करीब 10 लाख के जेवरात और नकद लूट लिए थे. अब तक अपराधी पुलिस की पकड़ से दूर हैं.

9 फरवरी 2019: चुटिया थाना क्षेत्र के अनंतपुर में दीपक घोष के घर रात के करीब 3 बजे हथियारबंद डकैतों ने 7 लाख की डकैती को अंजाम दिया. पिस्टल, चाकू से लैस होकर चार डकैत ग्रिल तोड़ कर घर में दाखिल हुए और घर के लोगों को बंधक बनाकर घटना को अंजाम दिया. इस मामले में पुलिस को अबतक अपराधियों की तलाश है.

31 जुलाई 2019: रांची के नामकुम के लोवाडीह में रहने वाले हाईटेंशन फैक्ट्री के पूर्व जीएम सतीश चंद्र विद्यार्थी के क्वार्टर सी 33 से चोरों ने सवा दो लाख नकद सहित दस लाख के गहनों की चोरी कर ली थी. इस मामले में भी चोर पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं.

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close