Crime NewsJharkhandKhas-KhabarRanchi

रांची पुलिस औसतन हर महीने कर रही 3 बड़े मामलों का खुलासा, पिछले 6 महीने में 78 अभियुक्त गिरफ्तार

Saurav Singh

Ranchi: रांची एसएसपी के नेतृत्व में पुलिस हर महीने औसतन तीन बड़े मामलों का खुलासा कर रही है. पिछले 6 महीने के दौरान रांची पुलिस ने 17 बड़े मामलों का खुलासा किया है. इन मामलों में शामिल 78 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर रांची पुलिस ने जेल भेजने का काम किया है. पिछले एक वर्ष की बात करें तो इस दौरान रांची पुलिस ने 2910 अपराधियों को गिरफ्तार किया है.

इसे भी पढ़ें- झारखंड में मजदूर संगठन इंटक दो नहीं बल्कि तीन गुट में बंटने की कगार पर

आर्म्स व एक्सप्लोसिव तस्करों पर पुलिस ने कस रखी है नकेल

रांची एसएसपी अनीश गुप्ता के नेतृत्व में रांची पुलिस ने आर्म्स और एक्सप्लोसिव तस्करों पर नकेल कस रखी है. रांची में गतिविधि होते ही तस्कर पकड़े जा रहे हैं. इसके अलावा एसएसपी अनीश गुप्ता की मॉनिटरिंग में तकनीकी सेल की मदद से रांची एंट्री करने वाले शूटर भी पकड़े गये हैं. पिछले एक वर्ष की बात करे तो रांची पुलिस ने इस दौरान 104 हथियार भी बरामद किये हैं. जिसमें एके- 47,एके- 56 समेत कई अन्य हथियार शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें- कोरोनिल : बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने बनायी कोरोना वायरस की दवा, 100 पर्सेंट रिकवरी रेट का दावा

पिछले छह वर्ष कि तुलना में इस वर्ष अपराधिक घटनाओं में आयी कमी

झारखंड पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक रांची जिले में हत्या की घटनाएं पिछले सात सालों की तुलना में इस साल कम हुए हैं. 2013 में 234, 2014 में 230, 2015 में 210, 2016 में 197, 2017 में 168, 2018 में 186 और 2019 में 175 और 2020 में अब तक 46 हत्याएं हुई हैं जो कि पिछले 5 सालों की तुलना में कम हैं.

दुष्कर्म की घटना 2013 में 115, 2014 में 131, 2015 में 158, 2016 में 161, 2017 में 157, और 2018 में 179 और 2019 में 191 और 2020 में अब तक 46 हुई हैं.

अपहरण की घटना 2013 में 133, 2014 में 188 ,2015 में 238, 2016 में 202 ,2017 में 197, और 2018 में 208 और 2019 में 221 और 2020 में अब तक 67 हुई है.

डकैती की घटना 2013 में 29, 2014 में 26, 2015 में 26, 2016 में 28, 2017 में 20 ,और 2018 में 15 और 2019 में 15 और 2020 में अब तक सिर्फ 3 हुई है.

नक्सल घटनाओं में जहां 2013 में 31, 2014 में 27, 2016 में 28, 2017 में 30, और 2018 में 25 और 2019 में 24 और 2020 में अबतक सिर्फ 3 मामले दर्ज हुए हैं.

इसे भी पढ़ें- सौंदर्यीकरण के नाम पर सिर्फ रांची में खर्च हुए 196 करोड़, फिर भी धरातल नहीं दिखा कुछ खास  

जमीन विवाद में होने वाली हत्याओं में आयी कमी

राजधानी रांची में सबसे अधिक हत्याएं जमीन विवाद के कारण हुई हैं. लेकिन अगर पिछले छह महीने में हुई हत्याओं पर गौर किया जाए तो वे हत्याएं जमीन विवाद नहीं बल्कि आपसी विवाद और प्रेम प्रसंग के कारण हुई है.

जिस तरह से रांची में जमीन विवाद को लेकर आए दिन हत्या की जैसी घटनाएं सामने आ रही थी. लेकिन पिछले छह महीने के दौरान रांची पुलिस के द्वारा जमीन विवाद को लेकर होने वाली हत्याओं पर काफी हद तक लगाम लगा दिया गया है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: