Crime NewsJharkhandRanchiTop Story

तीन राज्य में तीन सौ से अधिक एटीएम फ्रॉड करने वाला आरोपी रांची पुलिस के हत्थे चढ़ा

Ranchi: रांची पुलिस ने रविवार को एक ऐसे फ्रॉड को गिरफ्तार किया जिसने तीन राज्य में अब तक तीन सौ से अधिक एटीएम फ्रॉड की घटना को अंजाम दिया है. आरोपी की पहचान बिहार के गया जिले के फतेहपुर थाना क्षेत्र के रोशना गांव निवासी रंजन राजू उर्फ बूगल के रुप में हुई है. नामकुम थाना क्षेत्र से पुलिस ने आरोपी को उस वक्त गिरफ्तार किया जब वह लोवाडीह स्थित किसी एटीएम में फ्राड करने की तैयारी में था. आरोपी की गिरफ्तारी के दौरान गिरोह के अन्य सदस्य मौके से फरार होने में कामयाब रहे. आरोपी के पास से पुलिस ने विभिन्न बैंकों के आधा दर्जन एटीएम कार्ड, महिन्द्र एसयूवी 300 (जेएच 01 डीआर 9704), कार्ड स्वाइप मशीन, 30 हजार नकद रुपये सहित कई अन्य सामान भी बरामद किये हैं.

बिहार,यूपी और झारखंड में थी बेहद सक्रियता,गिरोह में लड़कियां भी मौजूद

आरोपी ने पूछताछ के दौरान बताया कि अब तक वह बिहार, यूपी और झारखंड के वाराणसी, औरंगाबाद, सासाराम, पटना, जमशेदपुर, धनबाद, बोकारो, रामगढ़ गिरिडीह और रांची के विभिन्न स्थानों में लोगों को झांसे में लेकर ठगी कर चुका है. आरोपी 2016 से साइबर फ्राड का काम करता है. गिरोह में लड़कियों को भी शामिल कर रखा है.

Sanjeevani

पुलिस ने स्थानीय लोगों की सूचना पर की कार्रवाई

नामकुम थाना प्रभारी ने बताया कि गत शनिवार को सूचना मिली थी कि लोवाडीह स्थित एक्सिस बैक और एचडीएफसी बैक के एटीएम के पास कुछ साईबर अपराधी महिन्द्र एक्सयूवी से घूम रहे है. जो लोगो को झांसे में लेकर उनके एटीएम कार्ड को बेकार एटीएम कार्ड में बदलकर कार्ड का क्लोनिंग कर और एटीएम पिन लेकर उनके खाते से रुपये की अवैध निकासी करते है. इसके अलावे एटीएम मशीन के कार्ड स्लाट को पेचकस से लूज कर देता है. जिससे एटीएम मशीन में कार्ड डालने पर कार्ड मशीन के अंदर चला जाता है. जिसके बाद पैसे की अवैध निकासी कर ली जाती है. सूचना पर नामकुम थाना पुलिस लोवाडीह पहुंची तो एक संदिग्ध को देखा गया, जिसे पुलिस पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया. जबकि एक युवती सहित अन्य सहयोगी मौके से फरार हो गया. पुलिस फरार आरोपी की पहचान में जुटी है.

Related Articles

Back to top button