JharkhandRanchi

लोकसभा चुनाव को लेकर रांची पुलिस अलर्ट, ग्रामीण इलाकों में शांतिपूर्ण चुनाव कराना होगी चुनौती

Ranchi : रांची जिले में शांतिपूर्ण चुनाव कराने और चुनाव के दौरान किसी भी प्रकार की विधि व्यवस्था में समस्या उत्पन्न नहीं हो इसके लिए रांची पुलिस अलर्ट है. जहां अपराधियों और नक्सलियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस राजधानी के हर एक थाना क्षेत्र में चेकिंग पॉइंट बनाकर सघन चेकिंग अभियान चला रही है. तो वहीं चुनाव को देखते हुए एसएसपी ने आदेश दिया है कि सभी क्षेत्रों में असामाजिक तत्वों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई की जाए. साथ ही अपराधिक मामले में वांछित लोगों की भी गिरफ्तारी की जाए. उल्लेखनीय है कि राजधानी रांची के ग्रामीण क्षेत्रों में सुरक्षा बलों के लिए शांतिपूर्ण चुनाव कराना एक बड़ी चुनौती होगी.

ग्रामीण इलाकों में शांतिपूर्ण चुनाव करना होगी चुनौती

राज्य के 13 अति संवेदनशील जिले में रांची जिला भी शामिल है. राजधानी के ग्रामीण क्षेत्रों में बेड़ो, लापुंग, खलारी, बुंडू और तमाड़ जैसे ग्रामीण इलाकों में पीएलएफआई और माओवादी संगठन ज्यादा सक्रिय है. समय-समय पर नक्सली संगठन पोस्टर बाजी, लेवी और आगजनी जैसी घटनाओं को अंजाम देकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराते रहते हैं. ऐसे में सुरक्षाबलों को ग्रामीण इलाकों में शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराना चुनौती होगी. हालांकि इसके लिए पुलिस लगातार अभियान चला रही है.

दूसरे राज्य से आने वाले अपराधियों पर रखी जा रही है विशेष नजर

दूसरे राज्य से अपराध की घटना का अंजाम देकर आने वाले अपराधियों पर पुलिस के द्वारा विशेष नजर रखी जा रही है. कई बार ऐसा होता है कि अपराधी किसी एक राज्य में घटना का अंजाम देकर खुद को बचाना के लिए दूसरे राज्य के सीमावर्ती इलाके में शरण ले लेते हैं. इसके लिए राजधानी पुलिस चौकस है. रांची पुलिस के द्वारा सीमावर्ती इलाकों पर चेकिमग प्वांइट पर बनाए गए हैं. ताकि दूसरे राज्य से आने वाले अपराधियों पर सख्त नजर रखी जाए.

जमा करवाए गए लाइसेंसी हथियार

राजधानी रांची में लगभग चार हजार के करीब लाइसेंसी हथियार हैं. पुलिस ने लगभग सभी हथियारों को एहतियातन जमा करवा लिया है. रांची एसएसपी अनीश गुप्ता ने बताया कि कुछ लोगों को ही सिर्फ लाइसेंसी हथियार रखने की छूट दी गई है. उनमें वैसे लोग शामिल हैं, जिनपर हमले की आशंका है. वहीं, बैंक और एटीएम में तैनात बंदूकधारियों को भी लाइसेंसी गन जमा कराने से छूट दी गई है.

लोकसभा चुनाव को लेकर राजधानी में बढ़ी अवैध हथियारों की मांग

लोकसभा चुनाव के तारीखों का एलान होते ही राजधानी रांची में अवैध हथियारों की मांग बढ़ गई है. पुलिस अवैध हथियार का कारोबार करने वालों पर लगातार कार्रवाई कर रही है. लेकिन इसके बावजूद भी इस कारोबार पर लगाम नहीं लग पा रहा है. लोकसभा चुनाव के दौरान अवैध हथियार की मांग बढ़ी है. हाल के दिनों में गिरफ्तार हुए अवैध हथियार के कारोबारियों से जब पुलिस ने पूछताछ की तो यह बात सामने आई कि लोकसभा चुनाव को लेकर कई लोगों ने हथियार खरीदने के लिए उनसे संपर्क किया था. साथ ही यह भी कबूल किया कि उन्होंने कई जगहों पर हथियार भी सप्लाई की है.

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close