न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची : डेली मार्केट में पसरा कचरे का ढेर, सांस लेना भी हुआ मुश्किल

गंदगी से बीमारी फैलने का खतरा भी बढ़ा

724

Ranchi : रांची के मेन रोड स्थित डेली मार्केट की हालत दिल प्रतिदिन खराब होती जा रही है. सही ढंग से साफ सफाई नहीं होने के कारण यहां पर कचरे का ढेर जमा हो गया है. अगर जल्द कचरे को नहीं उठाया गया तो यहां से गुजरना भी मुश्किल हो जाएगा. वहीं दूसरी ओर बारिश होने पर गंदगी से बीमारी फैलने का खतरा भी बढ़ गया है.

इसे भी पढ़ें- आठ सालों में पथ निर्माण विभाग के 73 इंजीनियर्स पर भ्रष्‍टाचार के गंभीर आरोप, कार्रवाई के बाद सिर्फ एक हुआ बर्खास्‍त

दुर्गंध से सांस लेना मुश्किल

डेली मार्केट में फल और सब्जियों की मंडी है और इसके अलावा लोग चिकन लेने भी आते है. जहां से हर दिन भारी मात्रा में कचरा निकलता है और इसी मार्केट के बीच खाली जगह पर इसे डंप किया जाता है. कचरे की दुर्गंध से दुकानदार परेशान है साथ ही यहां आने वाले ग्राहकों को भी बहुत परेशानी हो रही है. कचरे की दुर्गंध इतनी ज्यादा है कि लोगों को सांस लेने में भी मुश्किल हो रही है.

इसे भी पढ़ें- झारखंड राज्य हज समिति गठित, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बने सदस्य, 45 दिनों के अंदर होगा अध्यक्ष का चुनाव

बीमारियों को दे रहा आमंत्रण

डेली मार्केट में कचरे का ढेर बीमारियों को आमंत्रण दे रहा है. यहां मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है जिससे डेंगू , मलेरिया जैसी अन्य बीमारियों के होने का खतरा रहता है. मच्छर के प्रकोप से इस इलाके में रहने वाले लोग अपने घरों की खिड़की तक नहीं खोल पाते हैं.रांची : डेली मार्केट में पसरा कचरे का ढेर, सांस लेना भी हुआ मुश्किल

इसे भी पढ़ें- अमित शाह जी! जरा पता कीजियेगा, जिस भगवान बिरसा मुंडा के वंशजों के आवास के लिए आपने भूमि पूजन किया था, क्या वहां एक भी ईंट लग पायी है

सर्वे खत्म होने के बाद से हालत और खराब

इलाके के दुकानदारों ने बताया कि स्वच्छता में बेहतर रैंक लाने के लिए यहां सफाई अभियान चलाया गया था. सर्वे के लिए अायी टीम ने डेली मार्केट का जायजा लिया था और साफ-सफाई से संतुष्ट दिखे थे. लेकिन उसके बाद से यहां साफ सफाई नहीं होती है जिसकी वजह से कचरे का ढेर लगा हुआ है. और लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: