JharkhandLead NewsRanchi

रांची : होल्डिंग टैक्स कलेक्शन में एजेंसी की मनमानी से परेशान हैं लोग, बंद किये गये कई ऑप्शन

Ranchi : राजधानी में होल्डिंग टैक्स कलेक्शन करने का काम रांची नगर निगम ने श्री पब्लिकेशनस को दे रखा है, लेकिन एजेंसी होल्डिंग टैक्स कलेक्शन में मनमानी कर रही है. इतना ही नहीं ऑनलाइन टैक्स में पेमेंट मोड को भी बंद कर दिया गया है. वहीं ऑनलाइन डॉक्यूमेंट अपलोड करने की सुविधा भी लोगों को नहीं मिल पा रही है. जिससे कि लोगों घर बैठे अपना होल्डिंग टैक्स जमा करने में काफी परेशानी हो रही है. ऐसे में लोगों के पास नगर निगम के चक्कर लगाने के अलावा कोई चारा नहीं है. वहीं लोगों का आरोप है कि काम जल्द करवाने के लिए टैक्स कलेक्टर को चढ़ावा भी चढ़ाना पड़ता है. जिससे साफ है कि एजेंसी नहीं चाहती कि लोग खुद से अपना होल्डिंग टैक्स ऑनलाइन माध्यम से जमा करें. वहीं इस मामले में अब पार्षदों ने भी निगम के अधिकारियों से कार्रवाई की मांग की है ताकि लोग अपना टैक्स घर बैठे जमा करा सकें.

इसे भी पढ़ें :   धनबाद : टुंडी थाना प्रभारी और बॉडीगार्ड पर रंगदारी मांगने का आरोप, SSP से शिकायत

एजेंसी उठा रही है फायदा

ऑनलाइन टैक्स को बढ़ावा देने के लिए नगर निगम ने आरएमसी की वेबसाइट पर सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई है. जिसके तहत पहले से काम कर रही एजेंसी टैक्स कलेक्शन कर रही थी. जहां ऑनलाइन टैक्स जमा करने पर लोगों को टैक्स में छूट दी जाती है. वहीं कोविड संक्रमण को देखते हुए लोगों से ऑनलाइन ही टैक्स जमा कराने की अपील निगम कर रहा है, लेकिन अब ऑनलाइन की सुविधा लोगों के लिए सिरदर्द बन गई है. जिसका फायदा एजेंसी उठा रही है और ऑफलाइन टैक्स कलेक्शन पर उसे काफी कमीशन मिल रहा है.

पार्षदों ने की एजेंसी पर कार्रवाई की मांग

पार्षद अरुण कुमार झा ने कहा कि श्री पब्लिकेशनस कंपनी लोगों को नया होल्डिंग नंबर देने में जानबूझकर पेपर स्कैन नहीं कर रही है. महीनों तक पैसा जमा करने के बाद भी लोगों को होल्डिंग नंबर जारी नहीं हो पा रहा. एजेंसी के टैक्स कलेक्टर को अतिरिक्त पैसा देने से तुरंत काम हो जाता है. संबंधित पदाधिकारियों को इसे देखने की जरूरत है. एजेंसी चाहती है कि उसके पास लोग टैक्स जमा करें और उसे कमीशन मिलता रहे.

इसे भी पढ़ें :   दाऊद के गुर्गे रियाज की पत्नी ने अपने पति सहित 2 मशहूर क्रिकेटरों और कांग्रेस नेता पर लगाया रेप का आरोप

पार्षद ओमप्रकाश गुप्ता ने कहा कि नगर निगम में श्री पब्लिकेशनस की दादागिरी चल रही है. लोग ऑनलाइन अगर होल्डिंग टैक्स भरना चाहते हैं तो वह भी नहीं भर सकते हैं, क्योंकि श्री पब्लिकेशन नहीं चाहता है कि लोग अपने से होल्डिंग टैक्स भरें.

वार्ड 38 के पार्षद दीपक लोहरा का कहना है कि उनके वार्ड में भी ऐसी ही समस्या है. एजेंसी की मनमानी से लोगों को टैक्स भरने में परेशानी आ रही है. नगर निगम एजेंसी पर कार्रवाई करें और टैक्स जमा करने की ऑनलाइन व्यवस्था को दुरुस्त कराए.

श्री पब्लिकेशन के प्रोजेक्ट मैनेजर अमित कुमार ने कहा कि लोगों को कोई परेशानी न हो इसके लिए ही सरकार ने हमें काम दिया है. कई बार टेक्निकल फाल्ट या पेपर मिसिंग के कारण टैक्स जमा करने में परेशानी होती है. इसके लिए हमने वाट्सएप कालिंग की फैसिलिटी दी है. जिसके तहत लोगों से पेपर की जानकारी ली जाती है. वहीं कोई परेशानी हो तो उसे दूर कर दिया जाता है. जहां तक जानबूझकर वेबसाइट को प्रभावित करने की बात है तो ऐसा कुछ भी नहीं है. लोगों को कोई परेशानी हो तो हमारे ऑफिस में संपर्क कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें :  गैराज में खड़ी बस में फंदे से लटका मिला युवक का शव, हत्या की आशंका

Related Articles

Back to top button