न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची : ऑनलाइन नक्शा पास करने में निगम है लेटलतीफ

777

Ranchi : शहर में नगर निगम ने नक्शा पास करने के लिए ऑनलाइन सुविधा शुरू कर दी है. लेकिन फिर भी काम वक्त पर नहीं हो रहा.  स्थिति यह है कि आज भी नक्शा पास करने का काम ऑफलाइन की तुलना में धीमी गति से चल रहा है. पिछले कुछ वर्षों में नक्शा पास कराने के लिए निगम को करीब 1722 ऑनलाइन आवेदन प्राप्त हुए हैं. लेकिन इसमें से निगम ने अबतक करीब 1092 नक्शों को ही पास किया है.  इसी लेटलतीफी को लेकर सीएम रघुवर दास ने नगर विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा बैठक में निगम को सख्त निर्देश देते हुए कहा था कि रसीद और म्यूटेशन के साथ आवेदन होने पर तय सीमा में नक्शा पास किया जाए.

इसे भी पढ़े- आरटीआई से ना सूचना देंगे और ना भ्रष्टाचार होगा उजागर

नक्शा पास करने में व्यर्थ का विलंब बर्दाश्त नहीं : सीएम

मालूम हो कि नगर विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा बैठक में सीएम ने कहा था कि अद्दतन रसीद और म्यूटेशन के साथ आवेदन होने पर तय समय सीमा में नक्शा पास होना चाहिए. उनके मुताबिक व्यर्थ में विलंब बर्दाशत नहीं किया जाएगा. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने छोटे प्लॉट पर नक्शा में विचलन के लिए वन टाइम सेटेलमेंट का नियम बनाने का भी निर्देश दिया था. भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए सीएम ने सख्त लहजे में कहा था कि निगम में रियल स्टेट या बिल्डर को कोई फायदा नहीं मिलना सुनिश्चित किया जाये.

इसे भी पढ़े- भूमि अधिग्रहण बिल पर विपक्ष ने फूंका बिगुल, हेमंत ने कहा – जनता पर थोपा जा रहा काला कानून

आवेदन पास करने की दर है 63.41 प्रतिशत

निगम के टाउन प्लॉनर कार्यालय के मुताबिक ऑनलाइन होने के बाद निगम को शहर के भवन नक्शे के लिए अबतक करीब 1722 आवेदन प्राप्त हुए हैं. इसमें से निगम ने अबतक 487 आवेदन को रद्द कर दिया है. वहीं 143 आवेदन अभी भी प्रक्रिया में है. इस तरह ऑनलाइन होने के बाद भी कार्यालय से अभी तक केवल 1092 आवेदन को ही स्वीकृति मिल पायी है. इस तरह निगम के द्वारा नक्शा पास करने का प्रतिशत 63.41 ही है.

इसे भी पढ़े- जहर खाकर मरी लड़की के पिता से पुलिस ने वसूले 15 हजार!

silk_park

24 घंटे में नक्शा पास करने का निगम ने किया था ऐलान

मालूम हो कि गत जनवरी माह को ऑनलाइन नक्शा पास कराने की सुविधा के लिए एक ट्रस्ट एंड वेरीफाई सिस्टम शुरू करने की बात कही थी. निगम के मुताबिक इसके लागू होने से घर या बिल्डिंग का नक्शा 24 घंटे के अंदर पास हो जाना संभव होता. इसके लिए एक सॉफ्टवेयर तैयार किये जाने की भी बात कही गयी थी. इसके बावजूद निगम की तरफ से ऑनलाइन नक्शा पास करने में काफी देरी हो रही है.

इसे भी पढ़े- साईनाथ, राय और इक्फाई यूनिवर्सिटी के कुलपति की योग्यता यूजीसी गाइडलाईन के अनुरूप नहीं

क्या है नक्शा पास होने की प्रक्रिया

आवेदक को सबसे पहले निगम के लाइसेंसी आर्किटेक इंजीनियर से मिलकर उन्हें मकान संबंधित सभी कागजात की फोटोकॉपी देनी होती  है. इसके बाद इंजीनियर इसके लिए नगर निगम की साइट पर ऑनलाइन आवेदन करता है, जो लिगल सेल होते हुए जेईई के पास पहुंचता है. यहां से सभी तरह की क्लियरेंस होने के बाद फाइल टाउन प्लानर के पास जाती है. जहां रेसिडेंशियल नक्शे के लिए अंतिम स्वीकृति मिलती है. जबकि कॉर्मशियल कंस्ट्रक्शन के लिए टाउन प्लानर फाइल को नगर आयुक्त के पास भेजता है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: