न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची : सिविल सर्जन कार्यालय के समक्ष धरने पर बैठे एनएचएम कर्मचारी

28

Ranchi : एनएचएम कर्मचारी अपनी विभिन्न मांगों को लेकर गुरुवार को सिविल सर्जन कार्यालय के समक्ष धरने पर बैठ गये. कर्मचारियों ने कहा कि हम सभी 15 वर्षों से भी अधिक समय से अपनी सेवा देते आ रहे हैं, लेकिन आज हम सभी का दोहन और शोषण किया जा रहा है. कर्मचारियों ने कहा कि सेवाओं की रीढ़ माने जानेवाले इन राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कर्मचारियों का ही सामाजिक आर्थिक व सेवा संबंधी स्वास्थ्य बिगड़ा हुआ है. आज इनकी हालत काफी दयनीय हो गयी है. सिविल सर्जन कार्यालय के समक्ष धरने पर बैठे कर्मियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. कर्मचारियों ने कहा कि हमें भी समान काम के बदले समान वेतन मिले. कहा कि कई वर्षों से अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही.

इसे भी पढ़ें- कैसे आयुष्मान होगा भारत, दिल में छेद वाली बबीता का गोल्डेन कार्ड वैल्यूलेस, पीएम की चिट्ठी की भी…

देशभर के तीन लाख एनएचएम कर्मचारी रहे एकदिवसीय हड़ताल पर

देशभर के लगभग तीन लाख एनएचएम कर्मचारी अपनी तीन सूत्री मांगों को लेकर गुरुवार को एक दिवसीय हड़ताल पर रहे. वहीं, राज्य भर में लगभग 30 हजार एनएचएमकर्मी हड़ताल पर रहे. प्रवक्ता राजेश कुमार सिंह ने कहा कि अपने मूलभूत अधिकार के लिए कर्मचारियों द्वारा राज्यस्तर पर वर्षों से आंदोलन भी किया जा रहा है, लेकिन राज्य सरकार पर इसका कोई असर नहीं हो रहा है. इसके कारण मजबूरन सिविल सर्जन कार्यालय का घेराव करना पड़ा.

इसे भी पढ़ें- राज्य के 18 जिलों के 204 प्रखंडों का पानी ही पीने योग्य- स्वजल की रिपोर्ट

ये हैं मांगें

  1. सुरक्षा की ठोस नीति का निर्माण किया जाये.
  2. ठेकेदारी प्रथा अविलंब समाप्त हो.
  3. निष्कासित किये गये कर्मियों को पुन: बहाल किया जाये.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: